विज्ञापन

दिल्ली यूनिवर्सिटी में एमफिल-पीएचडी के लिए जल्द शुरू होगी दाखिला प्रक्रिया, अंकों में मिलेगी छूट

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Updated Wed, 12 Sep 2018 04:52 AM IST
Admission process for M.Phil-PhD in Delhi University will start soon
विज्ञापन
ख़बर सुनें
दिल्ली विश्वविद्यालय के शैक्षणिक सत्र 2018-19 में एमफिल-पीएचडी में दाखिले शुरू करने का रास्ता साफ हो गया है। दरअसल, एक महीने से अधर में लटके एमफिल-पीएचडी के दाखिले के लिए डीयू ने हरी झंडी दे दी है। इस तरह से 51 विभागों के 157 पाठ्यक्रमों के दाखिले में एससी, एसटी, ओबीसी व दिव्यांग उम्मीदवारों को पांच फीसदी छूट मिलेगी। इसके लिए रिसर्च कांउसिल की चेयरमैन प्रो. पम्मी दुआ की ओर से अधिसूचना जारी कर दी गई है। उम्मीदवार की कमी होने पर अंकों में पांच फीसदी की कमी करने का अधिकार शोध समिति के पास रहेगा। यूजीसी के नियमानुसार छूट के आधार पर शोध कार्य करने वाले छात्रों को प्रवेश दिया जा सकता है। हालांकि, अभी दाखिले कब से शुरू होंगे इस संबंध में स्पष्ट नहीं बताया गया है। 
विज्ञापन
एक माह पहले एमफिल-पीएचडी में एससी, एसटी, ओबीसी व दिव्यांग कोटे के उम्मीदवारों को केंद्र सरकार की आरक्षण नीति के अनुसार किसी प्रकार की छूट नहीं दी गई थी। इसे लेकर कैंपस में काफी धरना प्रदर्शन भी हुए थे। आरक्षित वर्गों के उम्मीदवारों के असंतोष को देखते हुए विभागों में एमफिल-पीएचडी के साक्षात्कार को अगले आदेश तक के लिए टाल दिया गया था। पांच फीसदी छूट के संबंध में यूजीसी के सर्कुलर आने के बाद डीयू ने भी अधिसूचना जारी कर दी।  

डीयू की ओर से जारी अधिसूचना के अनुसार एससी, एसटी, ओबीसी (नॉन क्रीमी लेयर) दिव्यांगों के लिए 5 प्रतिशत की छूट यूजीसी द्वारा किसी भी परीक्षा में दी जाएगी। अर्थात, 50 फीसदी की जगह 45 फीसदी होगी। अधिसूचना में कहा गया है कि एमफिल-पीएचडी में सभी श्रेणियों के प्रवेश हेतु आयोजित किए गए साक्षात्कार के दौरान उम्मीदवारों के नाम प्रकाशित नहीं किए जाएंगे, जब तक मेरिट के आधार पर किसी सदस्य को चुन नहीं लिया जाता।  

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Shimla

271 कॉलेजों, 16 विश्वविद्यालयों की बंद होगी रूसा ग्रांट

हिमाचल के 271 डिग्री, बीएड कॉलेजों और 16 विश्वविद्यालयों को राष्ट्रीय उच्चतर शिक्षा अभियान (रूसा) के तहत मिलने वाली ग्रांट बंद हो सकती है।

14 नवंबर 2018

विज्ञापन

Related Videos

चेहरे पर मां सी दमक और बातों में पिता सा कॉन्फीडेंस, सारा ने ऐसे किया पहली प्रेस कॉन्फ्रेंस का सामना

सैफ अली खान और अमृता सिंह की बेटी सारा अली खान अपनी डेब्यू फिल्म को लेकर दर्शकों के सामने आने के लिए तैयार हैं। सारा ने अपनी पहली ही प्रेस कॉन्फ्रेंस में जिस तरह खुलकर सवालों के जवाब दिए, उससे फिल्म इंडस्ट्री काफी प्रभावित हुई है।

14 नवंबर 2018

आज का मुद्दा
View more polls
Niine

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree