विज्ञापन

आईटीआई से मिलेगी 10वीं व 12वीं के समकक्ष मान्यता

ब्यूरो/अमर उजाला, गुरुग्राम Updated Sat, 03 Jun 2017 09:59 AM IST
students
students
विज्ञापन
ख़बर सुनें
देशभर के युवाओं के खुशखबरी है। आईटीआई में पढने वाले छात्रों को 10वीं और 12वीं के समकक्ष मान्यता मिलेगी। इसके लिए केंद्र सरकार खाका तैयार कर रही है। छह महीने में इसे लागू कर दिया जाएगा। इस बात की जानकारी केंद्रीय कौशल विकास एवं उद्यमशीलता राज्यमंत्री राजीव प्रताप रूडी ने दी। रूडी शुक्रवार को गुरुग्राम के गांव दौला में कौशल विकास केंद्र के आधारशिला कार्यक्र में हिस्सा लेने आए थे।
विज्ञापन
उन्होंने बताया कि अभी तक आईटीआई से पढने वाले छात्रों को 10वीं और 12वीं के समकक्ष मान्यता नहीं दी जाती है। इससे विद्यार्थियों को आगे की पढ़ाई करने में समस्या होती थी। इसे ध्यान में रखते हुए केंद्र सरकार ने समकक्ष मान्यता देने का निर्णय लिया है। इसी के साथ सभी स्कूली छात्रों के नेशनल स्कील क्वालिफिकेशन फ्रेमवर्क के तहत कौशल प्रशिक्षण देने की तैयारी की जा रही है। 

 नई योजना के तहत आठवीं बाद दो वर्षीय आईटीआई पाठ्यक्रम में दाखिला लेने वाले को 10वीं और 10वीं के आधार पर दाखिला लेने वाले छात्रों को 12वीं कक्षा के समकक्ष मान्यता दिया जाएगा। केंद्रीय कौशल विकास एवं उद्यमशीलता राज्यमंत्री राजीव प्रताप रूडी ने कहा कि आज देश को कुशल लोगों की जरुरत है। 

अकेले ड्राइविंग सेक्टर में ओला, उबर जैसी कंपनियों को तीन लाख लोगों की जरुरत है। बड़े स्तर पर कुशल ड्राइवरों की मांग है। कर्मिशयल वाहनों पर भी दक्ष ड्राइवर चाहिए। जिसमें कौशल विकास कें द्र महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे। 

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Shimla

पीजी परीक्षा बीस नवंबर से, इक्डोल में लटके दाखिले

विश्वविद्यालय बीस नवंबर से पीजी डिग्री कोर्स की परीक्षाएं शुरू करने की तैयारी में है। वहीं विवि के दूरवर्ती शिक्षा केंद्र में पीजी कोर्स में अब तक दाखिले तक शुरू नहीं हो सके हैं।

20 अक्टूबर 2018

विज्ञापन

Related Videos

पटाखों के शोर में नहीं सुनाई दी ट्रेन की आवाज, 61 लोगों की दर्दनाक मौत

पंजाब के #अमृतसर में बड़ा रेल हादसा हुआ है। रावण दहन देख रहे लोगों पर मौत बनकर ट्रेन दौड़ गई। ट्रेन हादसा #अमृतसर के जौड़ा फाटक पर हुआ।

19 अक्टूबर 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree