विज्ञापन
विज्ञापन

खुशखबरी: यूओयू की पढ़ाई सस्ती, 50 फीसदी कम हुई फीस

नवीन सक्सेना, अमर उजाला, हल्द्वानी Updated Wed, 18 Apr 2018 12:51 PM IST
money
money
ख़बर सुनें
जहां एक ओर उच्चशिक्षा विभाग ने राजकीय महाविद्यालयों में विविध शुल्क में बढ़ोतरी कर उच्चशिक्षा को महंगा किया है वहीं, उत्तराखंड मुक्त विश्वविद्यालय ने एक बड़ा फैसला लेते हुए विश्वविद्यालय से पढ़ने वाले विद्यार्थियों के लिए 50 फीसदी तक फीस कम कर दी है।
विज्ञापन
बीएससी के विद्यार्थियों को तीन वर्ष में 24 हजार फीस अदा करनी होती थी, अब केवल 12 हजार देनी होगी। इसी तरह एमएससी करने के लिए विद्यार्थी को दो वर्ष की जो फीस 30 हजार रुपये चुकानी होती थी, अब 16000 ही में एमएससी की पढ़ाई पूरी हो जाएगी।

पत्रकारिता के प्रति भी विद्यार्थियों में रुझान बढ़ाने को एमए एमएजेएमसी पाठ्यक्रम की फीस में प्रति सेमेस्टर 4000 रुपये से घटाकर 2500 रुपये किया है। विश्वविद्यालय के इस फैसले को कार्य परिषद ने हरी झंडी दे दी है। फीस की नई दरें जुलाई से नए शिक्षा सत्र से लागू होंगी। बता दें कि मुक्त विश्वविद्यालय की ओर से विद्यार्थी को किताबें भी दी जाती हैं।

संशोधित शुल्क
पाठ्यक्रम                  प्रति वर्ष फीस         अब 
बीएससी (जेडबीसी)         8000                  4000 
बीएससी (पीसीएम)       8000                4000 
एमएससी                   15000               8000 
एमए (एमएजेएमसी)     4000 प्रति सेमेस्टर    2500 
पीजीडीबीजे                4000 प्रति सेमेस्टर    2500
सीएमएम                   3000 छह माह कोर्स   2000
कंप्यूटर साइंस एवं आईटी    3500 प्रति सेमेस्टर     2000
सर्टिफिकेट ऑफ ई-गवर्नेंस एंड साइबर सिक्योरिटी    5000    2500 

योगा की फीस में पांच सौ की बढ़ोत्तरी
विश्वविद्यालय ने एमए योगा की फीस में प्रति वर्ष 500 की बढ़ोत्तरी की है। अब विद्यार्थियों को हर साल 8000 के स्थान पर 8500 कर दिया गया है। कुलसचिव प्रो. आरसी मिश्रा ने बताया कि इस पाठ्यक्रम में कार्यशाला आदि अधिक होती हैं इसलिए एमए योगा की फीस का पुनरीक्षण कर इसमें आंशिक बढ़ोतरी की गई है।

पर्वतीय दूरस्थ क्षेत्रों के विद्यार्थियों को उच्चशिक्षा का लाभ मिल सके, इस उद्देश्य से पाठ्यक्रमों की फीस कम की गई है। पढ़ाई के लिए पहाड़ से पलायन रोकने में भी यह कदम काफी कारगर होगा। विश्वविद्यालय का पूरा प्रयास है कि ग्रामीण क्षेत्रों तक उच्चशिक्षा का प्रसार हो, इस संकल्प के तहत ही तीन वर्षों में किसी पाठ्यक्रम की फीस नहीं बढ़ाई।
 - प्रो. नागेश्वर राव, कुलपति यूओयू
विज्ञापन

Recommended

शेयर मार्केट, अब नहीं रहेगा गुत्थी
Invertis university

शेयर मार्केट, अब नहीं रहेगा गुत्थी

समस्या कैसी भी हो, पाएं इसका अचूक समाधान प्रसिद्ध ज्योतिषाचार्यों से केवल 99 रुपये में
Astrology Services

समस्या कैसी भी हो, पाएं इसका अचूक समाधान प्रसिद्ध ज्योतिषाचार्यों से केवल 99 रुपये में

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Shimla

हिमाचल में कांस्टेबल के 92 पद भरने को ऑफलाइन मांगे आवेदन

पुलिस कांस्टेबल भर्ती में फर्जीवाड़े के बाद एक बार फिर पुलिस विभाग ने ऑफलाइन आवेदन मांगे हैं। पुलिस विभाग के संचार और तकनीकी विंग में 92 पुलिस कांस्टेबलों के लिए मांगे गए आवेदनों में पहली बार आर्थिक आधार पर आरक्षण भी दिया जाएगा।

24 अगस्त 2019

विज्ञापन

देशभर में जन्माष्टमी की धूम, वृंदावन के इस्कॉन मंदिर में लगी भक्तों की भीड़

पूरे भारत में भगवान श्रीकृष्ण का जन्मोत्सव यानी जन्माष्टमी बहुत ही हर्षोल्लास और धूमधाम से मनाया जा रहा है। वृंदावन के इस्कॉन मंदिर में भी भक्तों का तांता लगा हुआ नजर आया।

25 अगस्त 2019

Related

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree