विज्ञापन
विज्ञापन

पंजाब यूनिवर्सिटी एक साल में नई लगा पाई बायोगैस प्लांट, तो नहीं मिली स्वच्छता रैंकिंग से जगह

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, चंडीगढ़ Updated Thu, 05 Dec 2019 02:38 PM IST
पंजाब यूनिवर्सिटी चंडीगढ़
पंजाब यूनिवर्सिटी चंडीगढ़
ख़बर सुनें
पंजाब विश्वविद्यालय ब्यूटीफिकेशन से लेकर तमाम कार्यों पर करोड़ों खर्च कर चुका, लेकिन स्वच्छता रैंकिंग में आगे आने के लिए एक बायोगैस प्लांट नहीं लगा पाया। एक साल से फाइल अफसरों के पास घूम रही है, अब जाकर प्रस्ताव पास हुआ है। हालांकि, मशीन अभी भी स्थापित नहीं हो पाई है।
विज्ञापन
यही कारण रहा कि इस बार भी स्वच्छता रैंकिंग में पीयू पिछड़ गया, कहीं भी जगह नहीं बना पाया। पंजाब विश्वविद्यालय ने पिछली स्वच्छता रैंकिंग में भी इसी तरह का प्रदर्शन किया था और इस बार भी। कोई परिवर्तन नहीं हुआ। यानी एक साल में पीयू ने स्वच्छता को लेकर कोई खास कार्य नहीं किया।

हालांकि, गीले व सूखे कूड़े के लिए अलग-अलग कूड़ेदान अवश्य लगाए। सबसे हैरत की बात यह है कि वीसी प्रो. राजकुमार समय-समय पर विभाग अध्यक्षों समेत कई अधिकारियों की बैठक लेते रहे और उन्होंने स्वच्छता रैंकिंग में बाजी मारने को कहा। उसके लिए पैरामीटर्स की पूर्ति के लिए कहा, लेकिन इस निर्देश पर कार्य नहीं हो पाया और नतीजा सभी के सामने है।

विभागों में साफ-सफाई का आलम अधिक अच्छा नहीं मिला। इसके अलावा हॉस्टल मेस में चिमनी आदि लगाई जानी थी, लेकिन यह भी कार्य नहीं हो पाया। किचन भी ऑटोमेटिड होना चाहिए था, लेकिन यह मानक भी पीयू पूरा नहीं कर पाया।

पर्यावरण से जुड़े शिक्षकों का कहना है कि स्वच्छता के लिए कई बार बैठकें हुईं, पैसे भी खर्च किए गए, लेकिन परिणाम जस का तस रहा। पीयू शिक्षा का मंदिर है। यहां से स्वच्छता का संदेश हर जगह जाना चाहिए लेकिन पीयू खुद ही स्वच्छ नहीं रह पाया।

यहां पैसे लगाने की क्या जल्दी थी
पीयू ने गेट नंबर एक के पास ब्यूटीफिकेशन के नाम पर ईंटों से दो बड़े चबूतरे बना दिए। इनका सदुपयोग नहीं हो रहा है। इसके अलावा पूरे ब्यूटीफिकेशन पर 90 लाख रुपये का प्रोजेक्ट तैयार हुआ। इसमें कुछ रकम खर्च हुई, लेकिन बाद में इस पर रोक लगा दी। जानकारों का कहना है कि आखिर ऐसे ब्यूटीफिकेशन की जरूरत क्या थी। सबसे पहले पैसे बायोगैस प्लांट पर खर्च किए जाने चाहिए थे और पीयू के जिम्मेदार लोगों का ध्यान इसी पर होना चाहिए था ताकि पीयू का स्वच्छता में नाम होता लेकिन ऐसा नहीं हो पाया।

बायोगैस प्लांट पीयू में नहीं लग पाया, इसलिए हमें कम अंक मिले हैं। प्लांट स्थापना की फाइल पास हो गई है, मशीन आने वाली है। जल्द ही यह कार्य पूरा हो जाएगा। मेस में चिमनी इसलिए नहीं लगाई गई कि भवनों की आकृति से छेड़छाड़ नहीं की जा सकती। अगली स्वच्छता रैंकिंग में हम आगे आएं, इसके लिए तैयारी शुरू कर दी है।
- डॉ. शिवानी शर्मा, को-ऑर्डिनेटर, स्वच्छ भारत अभियान पीयू
विज्ञापन

Recommended

सब कुशल मंगल के ट्रेलर लॉन्च इवेंट में गूंजे दर्शकों के ठहाके
सब कुशल मंगल

सब कुशल मंगल के ट्रेलर लॉन्च इवेंट में गूंजे दर्शकों के ठहाके

ढाई साल बाद शनि बदलेंगे अपनी राशि , कुदृष्टि से बचने के लिए शनि शिंगणापुर मंदिर में कराएं तेल अभिषेक : 14-दिसंबर-2019
Astrology Services

ढाई साल बाद शनि बदलेंगे अपनी राशि , कुदृष्टि से बचने के लिए शनि शिंगणापुर मंदिर में कराएं तेल अभिषेक : 14-दिसंबर-2019

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Chandigarh

5 साल से नहीं मिली स्कॉलरशिप, पंजाब के हजारों विद्यार्थियों की धड़कनें बढ़ीं, पीयू डिग्री न रोक ले

पीयू से संबद्ध 170 से अधिक कॉलेजों में पंजाब के हजारों विद्यार्थियों को पोस्ट मैट्रिक स्कॉलरशिप अभी तक नहीं मिली है।

6 दिसंबर 2019

विज्ञापन

हैदराबाद रेप एनकाउंटर : पुलिस के एक्शन पर राजनीतिक बहस, दिग्गज नेताओं की ये है राय

हैदराबाद रेप एनकाउंटर पर देशभर से अलग-अलग प्रतिक्रियाएं आ रही है। जिसको लेकर एक सियासी बहस छिड़ गई है कि आखिर पुलिस का एक्शन कितना सही था और कितना गलत। यहां देखिए क्या कहा शशि थरुर सहित मायावती और मेनका गांधी ने।

6 दिसंबर 2019

आज का मुद्दा
View more polls
Niine

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election