विज्ञापन
विज्ञापन

पंजाब यूनिवर्सिटी छात्र संघ अध्यक्ष चेतन चौधरी की कुर्सी खतरे में, राहुल के सिर सज सकता ताज

सुशील कुमार, अमर उजाला, चंडीगढ़ Updated Fri, 29 Nov 2019 11:52 AM IST
चेतन चौधरी
चेतन चौधरी - फोटो : अमर उजाला
ख़बर सुनें
पंजाब यूनिवर्सिटी स्टूडेंट काउंसिल के अध्यक्ष चेतन चौधरी की कुर्सी खतरे में है। छात्र संघ चुनाव के बाद वह कक्षा में नहीं पहुंचे तो उनका दाखिला कैंसिल कर दिया गया है। चेतन चौधरी ने री-एडमिशन के लिए गुहार लगाई है। यदि वह दो माह गैर हाजिर रहने के वाजिब कारण नहीं बता पाए तो दाखिला नहीं मिल पाएगा और ऐसी स्थिति में उपाध्यक्ष राहुल कुमार के सिर अध्यक्ष पद का ताज सज सकता है।
विज्ञापन
पीयूसीएससी अध्यक्ष चेतन चौधरी ने बीटेक की थी, लेकिन एमटेक में दाखिला नहीं मिला तो उन्होंने चुनाव लड़ने के लिए उर्दू विभाग में एमए में दाखिला ले लिया। 6 सितंबर को छात्र संघ चुनाव हो गया। उसके बाद नियमनुसार चेतन चौधरी को कक्षा में जाना चाहिए था, लेकिन वह दो माह में महज एक ही दिन पहुंचे। विभाग ने उन्हें समय समय पर बताया भी था, बावजूद इसके वह नहीं जागे और आखिर में उर्दू विभाग से उनका एडमिशन कैंसिल हो गया। इसके बाद हड़कंप मच गया।

अध्यक्ष चेतन चौधरी ने री-एडमिशन की गुहार लगाई तो इसके लिए कमेटी बनाई गई है। कमेटी ने दो माह गैर हाजिर रहने के सभी सुबूत मांगे हैं। यदि सुबूत फिट नहीं बैठे तो री-एडमिशन भी नहीं हो पाएगा। लिंगदोह कमेटी कहती है कि यदि एडमिशन अध्यक्ष का रद्द होता है तो ऐसी स्थिति में उपाध्यक्ष को यह चार्ज जा सकता है। सूत्रों का कहना है कि एनएसयूआई इसकी तैयारी में लगी है कि उनके हिस्से में ताज आ जाए।

सोमवार को कमेटी की ओर से मुझे बुलाया गया है। वहां अंडरटेकिंग दूंगा कि भविष्य में ऐसा नहीं होगा। इसके बाद री-एडमिशन मिल जाएगा। अध्यक्ष मैं ही रहूंगा।
- चेतन चौधरी, अध्यक्ष पीयूसीएससी

चेतन चौधरी ने री-एडमिशन के लिए अप्लाई किया है। अमूमन एडमिशन फिर हो जाता है, लेकिन यदि नहीं होता है तो उसके बाद हमारा संगठन इस पर विचार करेगा।
- राहुल कुमार, उपाध्यक्ष पीयूसीएससी

चेतन चौधरी के री-एडमिशन की एप्लीकेशन मिली है। यदि कक्षा से गैर हाजिर रहने के सुबूत पर्याप्त नहीं दिए गए तो दिक्कत होगी। फिलहाल मामले की जांच चल रही है।
- प्रो. शंकरजी झा, डीयूआई
विज्ञापन

Recommended

मोतियाबिंद क्या है, इसके कारण व उपचार
Eye7 (Advertorial)

मोतियाबिंद क्या है, इसके कारण व उपचार

ढाई साल बाद शनि बदलेंगे अपनी राशि , कुदृष्टि से बचने के लिए शनि शिंगणापुर मंदिर में कराएं तेल अभिषेक : 14-दिसंबर-2019
Astrology Services

ढाई साल बाद शनि बदलेंगे अपनी राशि , कुदृष्टि से बचने के लिए शनि शिंगणापुर मंदिर में कराएं तेल अभिषेक : 14-दिसंबर-2019

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Dehradun

पतंजलि के आचार्यकुलम की प्रवेश प्रक्रिया हुई ऑनलाइन, देशभर में बनाए गए 35 केंद्र 

हरिद्वार में अब आचार्यकुलम में प्रवेश लेने के इच्छुक अभ्यर्थियों के लिए प्रवेश प्रक्रिया ऑनलाइन कर दी गई है।

12 दिसंबर 2019

विज्ञापन

भारत ने 2-1 से जीती सीरीज, विराट ने अनुष्का को दिया मैरिज एनिवर्सरी गिफ्ट

भारत ने वेस्टइंडीज को मुंबई में खेले गए आखिरी और निर्णायक टी-20 मुकाबले में 67 रनों से मात देकर तीन मैचों की टी-20 सीरीज 2-1 से अपने नाम कर ली है।

11 दिसंबर 2019

Related

आज का मुद्दा
View more polls
Niine

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election