खेल उजागर होने पर पीयू बैकफुट पर... कानून की पढ़ाई के लिए जारी प्रारंभिक मेरिट लिस्ट स्थगित की

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, चंडीगढ़ Updated Sun, 25 Oct 2020 03:30 PM IST
विज्ञापन
पंजाब विश्वविद्यालय
पंजाब विश्वविद्यालय - फोटो : फाइल फोटो

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें
कानून की पढ़ाई में प्रवेश के लिए पंजाब विश्वविद्यालय का खेल उजागर हुआ तो जारी की गई प्रारंभिक मेरिट लिस्ट स्थगित कर दी गई। पीयू इस मेरिट को लेकर विवादों में आ गई थी। यही नहीं शुक्रवार को विद्यार्थियों द्वारा हाईकोर्ट में इस प्रकरण को लेकर याचिका दायर हुई तो पीयू को बैकफुट पर आना पड़ा। साथ ही दर्जनों विद्यार्थियों ने भी पीयू की इस मेरिट पर आपत्तियां दायर की थी। अब नए सिरे से मेरिट लिस्ट जारी होगी। 
विज्ञापन

पीयू ने बीए एलएलबी तीन वर्षीय व बीकॉम एलएलबी पांच वर्षीय कोर्स में दाखिले के लिए इस बार मेरिट को आधार माना। प्रवेश परीक्षा आयोजित नहीं की गई। परीक्षा के नाम पर सभी विद्यार्थियों को बराबर-बराबर अंक दे दिए गए। बाकी अंक 12वीं कक्षा के जोड़े गए। प्रोस्पेक्ट्स में भी इसी का जिक्र किया गया। दो दिन पहले पीयू की ओर से इस कोर्स में प्रवेश के लिए टेंटेटिव मेरिट लिस्ट जारी की गई।
यह लिस्ट जारी होते ही विद्यार्थियों में हड़कंप मच गया, क्योंकि उनकी मेरिट जहां आनी थी वह बहुत पीछे हो गई। इसके पीछे कारण था कि पीयू की ओर से 12वीं में लीगल स्टडीज विषय पढ़े विद्यार्थियों को सीधे दो फीसदी अंक दे दिए गए। जिन विद्यार्थियों की मेरिट 40 पर आनी थी वह सीधे 150 से अधिक पहुंच गई। 
विज्ञापन
आगे पढ़ें

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X