CBSE स्टूडेंट्स अब पढ़ेंगे एनसीईआरटी की किताबें, केंद्रीय मंत्रालय का सख्त फरमान

ब्यूरो/अमर उजाला, चंडीगढ़ Updated Fri, 17 Feb 2017 05:14 PM IST
human resource ministery instructions to cbse to teach ncert books
स्कूल स्टूडेंट्स - फोटो : अमर उजाला
सीबीएसई से संबद्धता प्राप्त स्कूलों को शैक्षणिक सत्र 2017-18 से एनसीईआरटी (नेशनल काउंसिल ऑफ एजुकेशन रिसर्च एंड ट्रेनिंग) की पुस्तकें ही पढ़ानी होंगी।
मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने सीबीएसई स्कूलों में एनसीईआरटी की पुस्तकें पढ़ाने में आनाकानी करने का कड़ा संज्ञान लिया है। इसी माह केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने सीबीएसई से संचालित स्कूलों में एनसीईआरटी की पुस्तकों के इस्तेमाल को लेकर समीक्षा बैठक ली थी।

इसमें पुस्तकों की डिमांड लेने के बाद आपूर्ति और स्कूलों के आनाकानी करने पर भी चर्चा हुई। बैठक में निर्देश दिए गए कि शैक्षणिक सत्र 2017-18 से सीबीएसई से संचालित सभी स्कूलों में पहली से बारहवीं कक्षा तक एनसीईआरटी की पुस्तकें ही पढ़ाई जाएं।

बैठक के बाद केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के संयुक्त सचिव मनोज कुमार श्रीवास्तव ने सभी राज्यों के क्षेत्रीय कार्यालयों को इसे सुनिश्चित करने के लिए सर्कुलर भेज दिया है। इसमें 22 फरवरी तक हर राज्य के स्कूलों के लिहाज से कक्षा व टाइटल अनुसार डिमांड भी मांगी गई है।
आगे पढ़ें

हरियाणा स्कूल निदेशालय को मिल चुका है पत्र

Spotlight

Most Read

Delhi NCR

IPU में ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया शुरू, दस कोर्स में ऑनलाइन काउंसलिंग से होंगे दाखिले

गुरु गोबिंद सिंह इंद्रप्रस्थ विश्वविद्यालय (आईपीयू) में शैक्षिक सत्र 2018-19 में दाखिले के लिए बीते 15 फरवरी से प्रस्तावित आवेदन प्रक्रिया मंगलवार को शुरू हो गई।

20 फरवरी 2018

Related Videos

32 से लेकर 170 किलो तक वजन घटा चुके हैं ये सेलिब्रिटीज, अब दिखते हैं ऐसे

यह सभी जानते हैं कि मोटापा बीमारियों की जड़ है। फिर भी लोग अपनी सेहत पर ध्यान नहीं देते। पर जब कोई सेलिब्रिटी इस काम को ममुकिन कर दिखाता है, तो वह लोगों के लिए मिसाल बन जाते हैं।

20 फरवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Switch to Amarujala.com App

Get Lightning Fast Experience

Click On Add to Home Screen