विज्ञापन

पीयू के स्टूडेंट ऐसे बच्चों को पढ़ाने जाएंगे, जिन्हें जरूरत है

ब्यूरो/अमर उजाला, चंडीगढ़ Updated Wed, 07 Feb 2018 09:32 AM IST
Girl Child
Girl Child - फोटो : File Photo
विज्ञापन
ख़बर सुनें
सिटी ब्यूटीफुल में कई जगह ऐसे बच्चे देखे जा सकते हैं, जो स्कूल नहीं जाते। अगर जाते भी हैं तो कई स्कूलों में ऐसा माहौल नहीं है कि बच्चों की पढ़ाई सही ढंग से हो सके। ऐसे बच्चे चंडीगढ़ के पिछड़े क्षेत्र में शिक्षा से महरूम हो रहे हैं। ऐसे में पंजाब यूनिवर्सिटी के कुछ स्टूडेंट्स ने ‘स्टैप अप एंड लीड’ कार्यक्रम तैयार कर ऐसे बच्चों को पढ़ाने का जिम्मा उठाया है, जिन्हें वाकई में पढ़ाई की जरूरत है और इसका महत्व जानते हैं।
विज्ञापन
पंजाब यूनिवर्सिटी के बायो केमिस्ट्री विभाग में ‘स्टैप अप एंड लीड’ कार्यक्रम तैयार किया गया है। इसमें पीयू के पूर्व छात्रों के एक ग्रुप ‘छोटी सी आशा’ की भी मदद ली जाएगी। पीयू के मौजूदा और पूर्व स्टूडेंट मिलकर चंडीगढ़ के ग्रामीण क्षेत्र के स्कूलों में जाएंगे और वहां बच्चों की पढ़ाई में मदद करेंगे। इस योजना को लेकर मंगलवार को बायो केमिस्ट्री विभाग में एक बैठक भी हुई और पूरी योजना का खाका तैयार किया गया।

बायो केमिस्ट्री विभाग की चेयरपर्सन प्रो. अर्चन भटनागर ने बताया कि यह स्वच्छ भारत अभियान का हिस्सा है। सामाजिक सरोकार आज के समय की अहम जरूरत है और विद्यार्थियों को भी अपनी जिम्मेदारी का एहसास होना चाहिए। उन्होंने बताया कि इस तरह के कार्यक्रम से स्टूडेंट्स में जरूरतमंद की मदद करने की भावना तो आती ही है, साथ ही समाज के प्रति जिम्मेदारी का भी एहसास होता है। पीयू के स्टूडेंट शिक्षा के लिहाज से बेहतर हैं तो ऐसे में वे समाज में बदलाव लाने की जिम्मेदारी अच्छे से निभा सकते हैं। स्वच्छ भारत अभियान की को-आर्डिनेटर प्रो. सीमा कपूर ने बताया कि सभी को समाज के प्रति अपनी जिम्मेदारी समझनी चाहिए।

दिल्ली में हुआ ऐसा तो मिशन को मिली सफलता
‘छोटी सी आशा’ एनजीओ को गुरजिंदर और जतिंदर मान चलाते हैं और दोनों ही पीयू एलुमनी हैं। उन्होंने स्टूडेंट्स को बताया कि दिल्ली के कालेजों से कुछ स्टूडेंट्स ने ऐसा ही मिशन चलाया और स्लम में रहने वाले बच्चों को पढ़ाने का काम किया। इस कदम को काफी सफलता मिली। क्योंकि वहां इस सोच से काम किया गया है कि जो खुद पढ़ रहे हैं, वे अपने से छोटे को पढ़ाने का काम भी अच्छे से कर सकते हैं। ‘छोटी सी आशा’ एनजीओ के वालंटियर्स और पीयू के बायो केमिस्ट्री विभाग के स्टूडेंट्स के बीच हुए संवाद के बाद कई स्टूडेंट्स ने ‘स्टैप अप एंड लीड’ कार्यक्रम का हिस्सा बनने में रुचि दिखाई। 

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Shimla

सांख्यिकी सहायक भर्ती परीक्षा का रिजल्ट घोषित

सांख्यिकी सहायक के 24 पदों को भरने के लिए ली भर्ती परीक्षा का परिणाम घोषित कर दिया है।

19 नवंबर 2018

विज्ञापन

Related Videos

बड़े-बड़े अभिनेताओं से महंगा है इस हीरोइन का आलीशान घर

बॉलीवुड स्टार अपनी लग्जरी लाइफ के लिए जाने जाते हैं। साथ ही इनके महंगे और खूबसूरत बंगले इनकी किंग साइज लाइफ की कहानी बयां करते हैं। लेकिन क्या आपको पता है कि इनमें से एक हीरोइन ऐसी भी है जिसका घर बड़े-बड़े अभिनेताओं से भी ज्यादा कीमती है...

19 नवंबर 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree