बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
TRY NOW

पीयू सीनेट चुनाव : एक-एक सीट जीतने के लिए हो रही मारामारी, मनोनीत सदस्यों की संख्या पर टिकी नजरें 

सुशील कुमार, अमर उजाला, चंडीगढ़ Published by: निवेदिता वर्मा Updated Sat, 17 Apr 2021 10:55 AM IST

सार

कुल सदस्यों की संख्या में से दस सदस्य ऐसे हैं जो पदेन होते हैं, जो कभी आते हैं तो कभी नहीं। ऐसे में कुल सदस्य 80 से 81 मानकर चला जाता है।
विज्ञापन
पीयू सीनेट चुनाव
पीयू सीनेट चुनाव - फोटो : फाइल फोटो

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें

विस्तार

चंडीगढ़ के पंजाब विश्वविद्यालय सीनेट चुनाव में इस बार एक-एक सीट जीतने के लिए मारामारी है। गोयल ग्रुप व सुभाष ग्रुप ने सीनेट में अपना दबदबा कायम करने के लिए पूरी ताकत झोंक दी है। अब तक सीनेट में गोयल ग्रुप का दबदबा रहा है। सीनेट में कुल सदस्यों की संख्या 91 है।
विज्ञापन


कुल सदस्यों की संख्या में से दस सदस्य ऐसे हैं जो पदेन होते हैं, जो कभी आते हैं तो कभी नहीं। ऐसे में कुल सदस्य 80 से 81 मानकर चला जाता है। इन सदस्यों में से अकेले गोयल ग्रुप के पास 45 सीटों से अधिक रही हैं। हालांकि यह संख्या कुछ मनोनीत सदस्यों के जरिए भी बढ़ती रही है, क्योंकि चांसलर कार्यालय से सदस्यों का मनोनयन होता है। इस बार मनोनयन के जरिए गोयल ग्रुप के खाते में सीटों की संख्या कम आती नजर आ रही हैं।



माना जाता है कि केंद्र में जिसकी सरकार होती है, उसी के सदस्य मनोनीत होते हैं। हालांकि यह नियम नहीं है। इस तरह गोयल ग्रुप को इस बार चुनाव के जरिए आने वाली सीटों की ओर ध्यान देना होगा। उनका पूरा ग्रुप स्नातक वर्ग की 15 सीटें, पीयू कैंपस की दस सीटें और कॉलेजों की 15 सीटों पर काम कर रहा है। हर सीट पर गोयल ग्रुप अपना कब्जा जमाता है तो फिर उनकी सरकार सीनेट में बन सकती है।
विज्ञापन
आगे पढ़ें

मनोनीत सदस्यों की संख्या पर टिका सुभाष ग्रुप का गणित

विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X