विज्ञापन
विज्ञापन

यहां FD पर मिलता है सरकारी बैंकों से भी ज्यादा रिटर्न, घाटे से बचने के लिए आप भी करें निवेश

बिजनेस डेस्क, अमर उजाला Updated Wed, 11 Sep 2019 12:08 PM IST
More Return in Fixed Deposit by Small Bank Rather than Government Banks
ख़बर सुनें
सार्वजनिक क्षेत्र के सबसे बड़े बैंक एसबीआई ने मंगलवार से एफडी की ब्याज दरों में भारी कटौती कर दी है। ऐसे में सावधि जमा (एफडी) पर ज्यादा ब्याज पाने के लिए ग्राहकों को निवेश के नए विकल्प तलाशने होंगे। बाजार के जानकारों का कहना है कि अगर लघु वित्तीय बैंकों एफडी कराई जाए तो सरकारी बैंकों की तुलना में करीब 2.75 फीसदी तक ज्यादा ब्याज हासिल की जा सकती है।
विज्ञापन
हालांकि एफडी को सबसे सुरक्षित माना जाता है, लेकिन कम ब्याज के कारण यह निवेश के लिहाज से ज्यादा आकर्षक विकल्प नहीं रही है।

सरकारी बैंकों की तरह ही सुरक्षित

लघु वित्तीय बैंक भी सरकारी बैंकों की तरह ही अपने ग्राहकों को सुरक्षा की गारंटी देते हैं। इन बैंकों में एफडी कराने वाले ग्राहकों को जमा बीमा और क्रेडिट गारंटी निगम (डीआईसीजीसी) के जमाकर्ता बीमा कार्यक्रम के तहत सुरक्षा प्रदान की जाती है। इस बीमा कार्यक्रम में प्रति ग्राहक, प्रति बैंक एक लाख रुपये तक का कवर मिलता है। सरकारी बैंकों में भी यह राशि समान है। ऐसे में दोनों ही बैंकों में एफडी कराना समान रूप से सुरक्षित है।

सरकारी बैंकों की एफडी दर

 
बैंक      दर (तीन साल तक)
एसबीआई     6.25 फीसदी
ओबीसी         6.70 फीसदी
बीओबी         6.45 फीसदी
केनरा         6.50 फीसदी
बीओआई         6.50 फीसदी
 


यह भी पढ़ें: पाकिस्तान में पेट्रोल से भी महंगा हुआ दूध, 140 रुपये में मिल रहा एक लीटर

 

लघु वित्तीय बैंकों की एफडी दर

 
बैंक      दर (तीन साल तक)
फिनकेयर         नौ फीसदी
इक्विटास         8.30 फीसदी
जना         8.50 फीसदी
सूर्योदय          8.75 फीसदी
ईएएसएफ         आठ फीसदी
 

ऐसे चुनें सही एफडी

  • बैंक हर अवधि की एफडी पर अलग ब्याज दर देते हैं। निवेश के लक्ष्य को देखकर सही अवधि और ज्यादा ब्याज दर चुनें।
  • पैसे लगाने से पहले बैंक की साख को परखें और क्रिसिल, इक्रा पर रेटिंग की जांच करें।
  • भुगतान के तरीकों की जानकारी लें। बैंक संचयी एफडी में ब्याज दर का भुगतान परिपक्वता अवधि पर ही करते हैं। गैर संचयी एफडी पर ब्याज का भुगतान विकल्प के तहत तिमाही, छमाही या सालाना हो सकता है।

इस पितृ पक्ष गया में कराएं श्राद्ध पूजा, मिलेगी पितृ दोषों से मुक्ति : 13 सितम्बर - 28 सितम्बर 2019 (विज्ञापन) 
विज्ञापन

Recommended

अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का अधिकार ही है कॉमकॉन 2019 की चर्चा का प्रमुख विषय
Invertis university

अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का अधिकार ही है कॉमकॉन 2019 की चर्चा का प्रमुख विषय

सर्वपितृ अमावस्या को गया में अर्पित करें अपने समस्त पितरों को तर्पण, होंगे सभी पूर्वज प्रसन्न, 28 सितम्बर
Astrology Services

सर्वपितृ अमावस्या को गया में अर्पित करें अपने समस्त पितरों को तर्पण, होंगे सभी पूर्वज प्रसन्न, 28 सितम्बर

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें कारोबार समाचार और बजट 2019 से जुड़ी ब्रेकिंग अपडेट। कारोबार जगत की अन्य खबरें जैसे पर्सनल फाइनेंस, लाइव प्रॉपर्टी न्यूज़, लेटेस्ट बैंकिंग बीमा इन हिंदी, ऑनलाइन मार्केट न्यूज़, लेटेस्ट कॉरपोरेट समाचार और बाज़ार आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Corporate

भारत में घटा कॉर्पोरेट कर, जानिए दुनिया के प्रमुख देशों में कितनी है इस कर की दर

सुस्त अर्थव्यवस्था के दौर के बीच भारत सरकार ने आर्थिक वृद्धि दर को गति देने के लिए बड़ी घोषणा करते हुए शुक्रवार को कॉर्पोरेट कर की प्रभावी दर घटा दी है।

20 सितंबर 2019

विज्ञापन

MP कांग्रेस की बड़ी चूक, बैनर पर 'मध्यदेश' लिखने पर शिवराज की चुटकी तो सोशल मीडिया पर हो रही फजीहत

भोपाल में कांग्रेस की बैठक हो रही थी। इसी दौरान मंच पर लगे बैनर में एक बड़ी चूक पर नजर गई। जहां मध्यप्रदेश की जगह उसे 'मध्यदेश' लिख दिया गया।

20 सितंबर 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree