विज्ञापन
विज्ञापन

पेमेंट बैंक पर सरकार की शर्तें मान सकती है व्हाट्सएप, फर्जी खबरों पर भी होगी चर्चा

पीयूष पांडेय, अमर उजाला, नई दिल्ली Updated Fri, 17 Aug 2018 05:16 PM IST
whatsapp to agree government rules for payment service rollout
ख़बर सुनें
मैसेजिंग एप व्हाट्सएप ने अपने पेमेंट बैंक को भारत में मंजूरी दिलाने के लिए प्रयास तेज कर दिया है, जिसके तहत कंपनी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) अगले सप्ताह केंद्रीय इलेक्ट्रॉनिक एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद से मुलाकात करेंगे। इस दौरान, व्हाट्सएप पर फर्जी खबरों को रोकने पर भी चर्चा हो सकती है।  
विज्ञापन
व्हाट्सएप कंपनी की पेमेंट सेवा को आईटी मंत्रालय की आपत्ति के चलते ही अब तक मंजूरी नहीं मिल पाई है, ऐसे में यह मुलाकात बहुत अहम मानी जा रही है।  

मंत्रालय ने भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) और एनपीसीआई के समक्ष कंपनी की पेमेंट सेवा पर आपत्ति जताते हुए उसे देश में कार्यालय स्थापित करने के साथ ही, पेमेंट बैंक शुरू करने से पहले इसके आला अफसरों की नियुक्ति के लिए कहा था। इस पर हालांकि व्हाट्सएप ने अब तक कोई आधिकारिक जवाब नहीं दिया है। मंत्रालय के एक अधिकारी के मुताबिक, व्हाट्सएप के सीईओ ने पेमेंट बैंक के मुद्दे को लेकर मंत्री रविशंकर प्रसाद से मिलने का वक्त मांगा था, जिस पर मंत्रालय ने अगले सप्ताह बुधवार का वक्त दिया। 

आईटी मंत्रालय ने जताई थी आपत्ति 

सरकार के डिजिटल इंडिया अभियान को गति देने के लिए आरबीआई बीते दिनों कई पेमेंट बैंक को मंजूरी दे चुका था। इसी दौरान, व्हाट्सएप की पेमेंट सेवाओं को अनुमति देने की प्रक्रिया जारी थी, लेकिन आईटी मंत्रालय की आपत्ति के बाद उसका मामला ठंडे बस्ते में चला गया, जिसके बाद व्हाट्सएप प्रबंधन ने अपनी कोशिशें तेज की हैं। 

मंत्रालय के शीर्ष अधिकारी के मुताबिक, पेमेंट बैंक के अलावा हमारी ओर से व्हाट्सएप सीईओ के समक्ष फर्जी खबरों को रोकने का मुद्दा भी उठाया जाएगा। मंत्रालय दोनों ही मामलों में गंभीर है और देश के किसी भी नागरिक को नुकसान नहीं हो, इसके लिए प्रतिबद्ध है।  

माना जा रहा है कि व्हाट्सएप अपनी पेमेंट सेवा शुरू करने से पहले अधिकारियों की नियुक्ति करने की मंत्रालय की शर्त को पूरा करने के लिए तैयार है।  

दूसरे जवाब से सहमत नहीं सरकार 

गौरतलब है कि फर्जी खबरों के मामले में व्हाट्सएप द्वारा दिए गए दूसरे जवाब से मंत्रालय सहमत नहीं है। कंपनी ने अपने जवाब में कहा था कि हम हर संदेश की निगरानी नहीं कर सकते, जबकि मंत्रालय चाहता था कि व्हाट्सएप फर्जी संदेश फैलाने वाले समूहों को लक्षित करने का कदम उठाए। व्हाटसएप ने अपने प्लेटफॉर्म पर 5 समूह में ही संदेश आगे बढ़ाने का कदम उठाया था। 

Recommended

UP Board Class 10th & 12th 2019 की परीक्षाओं का सबसे तेज परिणाम देखने के लिए रजिस्टर करें।
UP Board 2019

UP Board Class 10th & 12th 2019 की परीक्षाओं का सबसे तेज परिणाम देखने के लिए रजिस्टर करें।

क्या आप जीवन में किसी चिंता से परेशान है? ज्योतिष शास्त्र द्वारा अपने प्रश्न का उत्तर जानिए
ज्योतिष समाधान

क्या आप जीवन में किसी चिंता से परेशान है? ज्योतिष शास्त्र द्वारा अपने प्रश्न का उत्तर जानिए

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
सबसे विश्वशनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें कारोबार समाचार से जुड़ी ब्रेकिंग अपडेट। कारोबार जगत की अन्य खबरें जैसे पर्सनल फाइनेंस, लाइव प्रॉपर्टी न्यूज़, लेटेस्ट बैंकिंग बीमा इन हिंदी, ऑनलाइन मार्केट न्यूज़, लेटेस्ट कॉरपोरेट समाचार और बाज़ार आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Online Market

Tiktok पर बैन से रोजाना पांच लाख डॉलर का नुकसान, 250 लोग होंगे बेरोजगारः बाइटडांस

चीनी वीडियो ऐप टिकटॉक के भारत में मद्रास हाईकोर्ट द्वारा प्रतिबंध लगने से कंपनी को रोजाना पांच लाख डॉलर का नुकसान हो रहा है। वहीं कंपनी में कार्यरत 250 लोगों की नौकरी भी खतरे में पड़ गई है।

23 अप्रैल 2019

विज्ञापन

एक क्लिक में देखें जियो गीगाफाइबर के नए प्लान सहित आज की तमाम बड़ी खबरें

प्रवर्तन निदेशालय ने बैंक कर्ज धोखाधड़ी से जुड़े धनशोधन मामले में ICICI बैंक की पूर्व मुख्य कार्यकारी अधिकारी चंदा कोचर और उनके पति दीपक कोचर को समन जारी कर अगले हफ्ते दिल्ली में तलब होने का आदेश दिया है।

23 अप्रैल 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election