दो लाख से भी सस्ता छोटा ट्रैक्टर बन कर तैयार, 10 हॉर्सपावर की है क्षमता

बिजनेस डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Updated Mon, 21 May 2018 01:36 PM IST
nrdc makes tractor costing below rupees 2 lakh with 10hp capacity
ख़बर सुनें
खेती-बाड़ी के लिए आज के जमाने में ट्रैक्टर उतना ही जरूरी है जितना पुराने जमाने में बैल। लेकिन जमीन की जोत जैसे-जैसे छोटी होती जा रही है, वैसे-वैसे हर किसानों के लिए बड़े और महंगे ट्रैक्टर खरीदना बस से बाहर होता जा रहा है। इस समस्या से निदान के लिए सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनी नेशनल रिसर्च डेवलपमेंट कारपोरेशन (एनआरडीसी) ने पहल कर 10 हार्स पावर (एचपी) का ट्रैक्टर विकसित करने में सफलता पाई है।
अच्छी बात है कि इसकी कीमत आम ट्रैक्टर के मुकाबले काफी कम है। इस समय इसकी कीमत करीब सवा दो लाख रुपये प्रति ट्रैक्टर है, लेकिन यदि ज्यादा संख्या में इसका उत्पादन हो तो कीमत पौने दो लाख रुपये के करीब पड़ेगी। अमर उजाला के शिशिर चौरसिया ने प्रख्यात वैज्ञानिक एवं एनआरडीसी केअध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक डॉ. एच. पुरुषोत्तम से लंबी बातचीत की। पेश है इस बातचीत के मुख्य अंश :

प्रश्न- एनआरडीसी की पहचान प्रयोगशाला में हुए अनुसंधान को बाजार तक पहुंचाने के लिए है। इस समय आप किस परियोजना पर काम कर रहे हैं?
उत्तर- हम एक समय में कई परियोजनाओं पर काम करते रहते हैं। यह एक सतत प्रक्रिया है। इस समय की बात करें तो अभी हम 10 एचपी केछोटे ट्रैक्टर को बाजार में लाने की प्रक्रिया में है। इस ट्रैक्टर का नाम हमने कृषि शक्ति दिया है। इस पर जिस सोच के साथ काम चल रहा है, वैसा ही हो तो हम किसानों को दो लाख रुपये के अंदर एक ट्रैक्टर उपलब्ध करा सकेंगे।

प्रश्न- यह तो छोटा ट्रैक्टर होगा, किसानों के काम कर सकेगा?
उत्तर- आप देखिए, देश में जैसे-जैसे आबादी बढ़ती जा रही है, प्रति व्यक्ति खेती की जमीन घटती जा रही है। औसत जोत का आकार तो चार हेक्टेयर है, लेकिन बिहार, पश्चिम बंगाल एवं कुछ अन्य राज्यों की बात की जाए तो वहां जोत और छोटी हो गई है। छोटी जोत वाले किसानों के लिए 30, 40 या 50 एचपी के ट्रैक्टर खरीदना बस के बाहर है। यदि कहीं से पैसे का जुगाड़ कर यह ट्रैक्टर खरीद भी लिया तो उसका पर्याप्त उपयोग नहीं हो पाएगा।

इसे ही ध्यान में रख कर हमारी एक प्रयोगशाला ने एक छोटे, कंपैक्ट और आसानी से उपयोग हो सकने वाले ट्रैक्टर को विकसित किया है। इस तरह के प्रोटोटाइप ट्रैक्टर का प्रयोगशाला स्तर पर परीक्षण हो चुका है। यही नहीं, इसके लिए सेंट्रल फार्म मशीनरी ट्रेनिंग एंड टेस्टिंग इंस्टीच्यूट, बूंदी से सीएमवीआर सर्टिफिकेट भी प्राप्त कर लिया गया है। यह छोटा ट्रैक्टर तो है ही, इसका रख-रखाव भी बड़े ट्रैक्टर के मुकाबले काफी सस्ता है। यह किसानों का काम उसी तरह करेगा जैसे कि कोई बड़ा ट्रैक्टर करता है।
आगे पढ़ें

क्या कीमत होगी इस ट्रैक्टर की और कब तक किसानों को उपलब्ध होगा?

RELATED

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all Automobiles News in Hindi related to car and bike reviews, latest car and bike diaries and auto news in Hindi etc. Stay updated with us for all breaking news from automobiles and more news in Hindi.

Spotlight

Most Read

Auto News

ई-वाहनों को बढ़ावा देने से बिजली कंपनियों को हो सकती है 11 अरब डॉलर की तगड़ी कमाई

भारत में व्यापक पैमाने पर इलेक्ट्रिक वाहनों (ई-वाहन) को अपनाने से साल 2030 तक बिजली की कुल मांग 69.6 टेरावाट घंटे को छू सकती है, जिससे बिजली कंपनियों को 11 अरब डॉलर की अतिरिक्त आय अर्जित करने में मदद मिलेगी।

14 जून 2018

Related Videos

बिना स्टीयरिंग व्हील और ड्राइवर के सड़कों पर दौड़ेगी Cruise AV, जानिए इस कार के बारे में...

आने वाले समय में सेल्फ ड्राइविंग कारों का ही बोलबाला होगा।

15 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen