विज्ञापन

बौद्ध और मुस्लिम के बीच हिंसक झड़प के बाद श्रीलंका के कैंडी में 10 दिन का आपातकाल

वर्ल्ड डेस्क, अमर उजाला, कोलंबो Updated Tue, 06 Mar 2018 06:05 PM IST
Maithripala Sirisena
Maithripala Sirisena
ख़बर सुनें
कैंडी जिले में सांप्रदायिक हिंसा भड़कने के बाद श्रीलंका ने 10 दिनों के लिए आपातकाल की घोषणा कर दी है। कैंडी जिले में सोमवार को सिंहली बौद्धों एवं अल्पसंख्यक मुस्लिम समुदाय के बीच हिंसक झड़पों के बाद श्रीलंका सरकार ने यह कदम उठाया है। इन दंगों में अब तक दो लोगों की मौत हो चुकी है जबकि कई मस्जिदों और घरों को ढहा दिया गया।
विज्ञापन
विज्ञापन
पिछले हफ्ते भीड़ ने एक सिंहली बौद्ध व्यक्ति की हत्या कर दी थी जिसके बाद मध्य पहाड़ी जिले के थेल्डेनिया इलाके में हिंसा भड़क गई। सरकार ने कैंडी में कर्फ्यू लगाने और सुरक्षा के मद्देनजर कैंडी में सेना और विशेष पुलिस कमांडो को भेज दिया है।

सामाजिक सशक्तिकरण मंत्री एसबी दिसानायके ने मंत्रिमंडल की बैठक के बाद कहा कि राष्ट्रपति मैत्रीपाला सिरिसेना और उनके मंत्रियों ने देश के कुछ भागों में भड़की हिंसा को देखते हुए 10 दिन के राष्ट्रीय आपातकाल की घोषणा को मंजूरी दे दी। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय आपातकाल की घोषणा पर राष्ट्रपति के हस्ताक्षर के बाद एक सरकारी अधिसूचना जारी कर दी जाएगी।

मुस्लिमों ने दावा किया है कि अल्पसंख्यकों की कम से कम 10 मस्जिदें, 75 दुकानें और 32 घर सिंहली बौद्धों के हमले में बुरी तरह से क्षतिग्रस्त कर दी गईं। इसके बाद दोनों समुदायों के बीच हिंसा को रोकने के लिए पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़ और रात में ही कर्फ्यू लागू कर दिया।

एक जली हुई इमारत के अवशेष से एक मुस्लिम की जली हुई लाश मिलने के बाद कैंडी के कई हिस्सों में हालात तनावपूर्ण बने हुए हैं। कैंडी जिले के थेल्डेनिया और पेल्लेकेले इलाकों में रात में लगी कर्फ्यू का उल्लंघन किए जाने पर मंगलवार को फिर से कर्फ्यू लागू करने के साथ विशेष टास्क फोर्स के भारी हथियारबंद पुलिस कमांडो को भी तैनात किया गया।


ऐसे हुई हिंसा की शुरुआत:
एक निजी विवाद में तीन मुस्लिमों द्वारा एक सिंहली बौद्ध की हत्या के बाद यह हिंसा भड़की है। पुलिस के अनुसार, 22 फरवरी को सिंहली बौद्ध व्यक्ति को घायल अवस्था में अस्पताल में भर्ती कराया गया। इसके बाद 3 मार्च को उसने अस्पताल में दम तोड़ दिया। पुलिस ने हमलावरों को गिरफ्तार कर लिया है और उन्हें बुधवार तक के लिए हिरासत में भेजा गया है।

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Rest of World

श्रीलंका : पीएम पद से इस्तीफा देने के बाद राजपक्षे बने मुख्य विपक्षी नेता

श्रीलंका में अप्रत्याशित राजनीतिक संकट के दौर में लगभग दो महीने तक प्रधानमंत्री का पद संभालने के बाद महिंदा राजपक्षे मंगलवार को संसद में मुख्य विपक्षी नेता बन गए हैं।

18 दिसंबर 2018

विज्ञापन

चीन में अपने पति के लिए सिर मुंडवा रही हैं महिलाएं

चीन में जेल में बंद अपने पति को न्याय दिलाने के लिए पत्नियों ने अपने सिर के बाल मुंडवाकर प्रदर्शन किया। पेशे से वकील और उनके तीन समर्थक चीन की जेल में बंद हैं और बाहर उनकी पत्नियों ने अपने पतियों को आजाद कराने के लिए प्रदर्शन किया।

18 दिसंबर 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree