विज्ञापन
विज्ञापन

अमेरिका के विरोध के बाद उत्तर कोरिया के इंटरनेशनल बॉर्डर पर उड़ा रूसी लड़ाकू विमान

amarujala.com- Presented by: अभिषेक मिश्रा Updated Fri, 25 Aug 2017 12:15 PM IST
रूसी लड़ाकू विमान
रूसी लड़ाकू विमान
ख़बर सुनें
उत्तर कोरिया और अमेरिका के बीच चल रहे विवाद के बीच रूसी लड़ाकू विमान ने कोरियन प्रायद्वीप के ऊपर उड़ान भरी है। रूस का यह विमान परमाणु हमला करने में सक्षम है। इस वक्त अमेरिका और दक्षिण कोरिया प्योंगयांग पर दबाव बनाने के लिए एक साथ सैन्य अभ्यास कर रहे हैं। 
विज्ञापन
रूस पहले से ही उत्तर कोरिया पर अमेरिका की किसी भी एकतरफा सैन्य कार्रवाई का विरोध कर चुका है। इस सारे विवाद के बीच रूस के Tupolev-95MS लड़ाकू विमान का कोड नाम "Bears" है। विमान ने प्रशांत महासागर, जापान सागर और पूर्वी चीन सागर के ऊपर उड़ान भरी। 

पढ़ें: नॉर्थ कोरिया की चेतावनी, मिलिट्री ट्रेनिंग कर आग में घी डाल रहे हैं अमेरिका-साउथ कोरिया

अंतरराष्ट्रीय सीमा पर लड़ाकू विमान के उड़ान भरने से पहले रूस ने एक बयान जारी किया था। रूस ने अमेरिका पर उत्तर कोरिया के साथ जंग का खेल खेलने का आरोप लगाया था। रूस के विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता ने कहा कि अमेरिका और दक्षिण कोरिया के बीच चल रहे सैन्य अभ्यास के चलते कोरियान प्रायद्वीप पर तनाव कम नहीं होने वाला है। उन्होंने कहा कि हम दोनों पक्षों से कहेंगे कि ज्यादा से ज्यादा सावधानी बरतें। 
विज्ञापन

Recommended

अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का अधिकार ही है कॉमकॉन 2019 की चर्चा का प्रमुख विषय
Invertis university

अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का अधिकार ही है कॉमकॉन 2019 की चर्चा का प्रमुख विषय

सर्वपितृ अमावस्या को गया में अर्पित करें अपने समस्त पितरों को तर्पण, होंगे सभी पूर्वज प्रसन्न, 28 सितम्बर
Astrology Services

सर्वपितृ अमावस्या को गया में अर्पित करें अपने समस्त पितरों को तर्पण, होंगे सभी पूर्वज प्रसन्न, 28 सितम्बर

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Gulf Countries

सऊदी अरब की कमजोरी भारत के लिए झटका क्यों

दुनिया के सबसे बड़े तेल संयंत्र पर ड्रोन हमले से तेल की कीमतों में उछाल आ गया है। बीते कुछ दशकों में ये सबसे तेज उछाल है और इसने मध्य-पूर्व में एक नए संघर्ष का ख़तरा पैदा कर दिया है।

18 सितंबर 2019

विज्ञापन

जादवपुर विश्वविद्यालय में बाबुल सुप्रियो का घेराव, राज्यपाल धनखड़ ने बताया गंभीर मामला

जादवपुर विश्वविद्यालय में छात्रों के एक समूह ने केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो का घेराव किया था और उन्हें काले झंडे दिखाए थे। पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने इसे गंभीर मुद्दा बताया है।

19 सितंबर 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree