नेपाल में दूसरी बार प्रधानमंत्री बने केपी ओली, राष्ट्रपति बिद्या देवी भंडारी ने किया नियुक्त

अतुल मिश्र, अमर उजाला, काठमांडू Updated Thu, 15 Feb 2018 06:42 PM IST
केपी शर्मा ओली
केपी शर्मा ओली - फोटो : Reuters
ख़बर सुनें
नेपाल में कम्युनिस्ट पार्टी के अध्यक्ष केपी शर्मा ओली दूसरी बार प्रधानमंत्री बने हैं। ओली नेपाल के 41वें प्रधानमंत्री हैं। राष्ट्रपति बिद्या देवी भंडारी ने 65 वर्षीय ओली को देश का प्रधानमंत्री नियुक्त किया।
गौरतलब है कि ओली के वामपंथी गठबंधन ने करीब दो महीने पहले हुए संसदीय और स्थानीय चुनावों में नेपाली कांग्रेस को हराया था। चीन के प्रति नरम रुख रखने के लिए जाने जाने वाले ओली इससे पहले 11 अक्तूबर, 2015 से 3 अगस्त, 2016 तक नेपाल के प्रधानमंत्री रह चुके हैं।

प्रधानमंत्री पद के लिए ओली का समर्थन यूसीपीएन-माओवादी, राष्ट्रीय प्रजातंत्र पार्टी नेपाल और मधेसी राइट्स फोरम डेमोक्रेटिक के अलावा 13 अन्य छोटी पार्टियों ने किया है। इससे पहले शेर बहादुर देउबा ने देश को संबोधित करने के बाद प्रधानमंत्री पद से अपना इस्तीफा राष्ट्रपति को सौंप दिया था।

उल्लेखनीय है कि देश में हुए ऐतिहासिक संसदीय और स्थानीय चुनावों में पार्टी की बुरी हार के करीब दो महीने बाद देउबा ने इस्तीफा दिया है। देउबा सीपीएन (माओवादी सेंटर) के समर्थन से पिछले वर्ष 6 जून को नेपाल के 40वें प्रधानमंत्री बने थे। सीपीएन (माओवादी सेंटर) अब वामपंथी गठबंधन का हिस्सा है और सीपीएन-यूएमएल के साथ विलय कर रहा है।

सीपीएन- यूएमएल और सीपीएन-माओवादी सेंटर गठबंधन को दिसंबर में हुए आम चुनावों में 275 में से 174 सीटों पर जीत मिली। सीपीएन-यूएमएल का नेतृत्व ओली जबकि सीपीएन-माओवादी सेंटर का नेतृत्व प्रचंड करते हैं।
आगे पढ़ें

कौन है ओली?

Recommended

Spotlight

Most Read

Rest of World

गजनी पर कब्जे की कोशिश, तालिबान ने मारे अफगानिस्तान के 200 सैनिक

तालिबान ने पिछले चार दिनों में अफगानिस्तान सरकार की सेना के 200 से अधिक सुरक्षाकर्मियों को मार दिया है।

13 अगस्त 2018

Related Videos

चार डिजिट के ATM पिन के छिपी है एक प्रेम कहानी, आप हो जाएंगे हैरान

पैसा निकालने के लिए एटीएम जाकर मशीन में अपना एटीएम डालते हैं, चार डिजिट का पिन एंटर करते हैं और आपका काम बन जाता है। लेकिन ये सब इतना आसान हुआ कैसे और एटीएम में पिन का सिस्टम कैसे बना यह बेहद दिलचस्प कहानी है।

8 अगस्त 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree