बांग्लादेश में आदिवासी और रोहिंग्या शरणार्थियों के बीच टकराव का खतरा

एजेंसी/ कॉक्स बाजार Updated Mon, 02 Oct 2017 05:26 AM IST
Bangladesh: Threat of confrontation between tribal and Rohingya refugees
बांग्लादेश म्यांमार के साथ लगे एक अशांत पहाड़ी जिले में बस चुके करीब 15 हजार रोहिंग्या शरणार्थियों को वहां से लाकर एक शिविर में रख रहा है। एक स्थानीय अधिकारी ने बताया कि पिछले पांच हफ्तों में दक्षिणपूर्व बांग्लादेश पहुंचे करीब पांच लाख रोहिंग्या सरकारी जमीन पर बने शिविरों में पहुंच चुके हैं। लेकिन हजारों रोहिंग्या निकटवर्ती बंदरबन जिले में बस चुके हैं, जिनमें से अधिकतर मुस्लिम हैं। 

यह जिला चटगांव पहाड़ी इलाकों का हिस्सा, जहां की स्थानीय जनजातियों ने 1980 और 1990 के दशक में एक अलगाववादी विद्रोह किया था। ऐसे में अधिकारियों ने चिंता जताई है कि उनके वहां रहने से वहां की जनजातियों और स्थानीय मुस्लिम जनसंख्या के बीच सांप्रदायिक तनाव पैदा हो सकता है। वहां की जनजातियां प्रमुख रूप से बौद्ध हैं। 

पढ़ें- भारत ने खोले दो बॉर्डर क्रॉसिंग पॉइंट, म्यांमार-बांग्लादेश आना-जाना होगा आसान    

बंदरबन सरकार के प्रबंधक दिलीप कुमार बानिक ने बताया कि यही कारण है कि वहां बस चुके रोहिंग्याओं को कैंप में लाने का फैसला लिया गया है। बानिक ने यह भी बताया कि सरकार ने बांग्लादेश और म्यांमार के बीच लगने वाले नो-मैन्स लैंड में भी करीब 12 हजार रोहिंग्या बसे हुए हैं, उन्हें भी शरणार्थी शिविरों में लाया जाएगा।

बंदरबन में आईएस सक्रिय
बंदरबन जिले में इसी साल जून में एक स्थानीय राजनेता की हत्या के बाद मुस्लिमों ने जनजातीय समुदाय के हजारों घरों में आग लगा दी थी। वहीं इसी साल मई में एक 75 वर्षीय बौद्ध भिक्षु की हत्या कर दी गई थी। इस हत्या की जिम्मेदारी इस्लामिक स्टेट ने ली थी। स्थानीय जनजातियों द्वारा छेड़ा गया अलगाववादी विद्रोह सरकार के साथ किए गए एक शांति समझौते के बाद 1997 में खत्म हुआ था। ऐसे में सरकार ने चिंता जाहिर की है कि यदि क्षेत्र में रोहिंग्या बसते गए तो विद्रोह एक बार फिर शुरू हो सकता है।

Spotlight

Most Read

Rest of World

मां बनने वाली हैं न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री जेसिंडा आर्डर्न, लेंगी छह हफ्ते की छुट्टी

न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री जेसिंडा आर्डर्न ने घोषणा की है कि वह मां बनने वाली हैं। यह उनका पहला बच्चा होगा।

19 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: इसे नहर से बाहर निकालने में वन विभाग के छूटे पसीने

महाराष्ट्र के भंडारा जिले के गोसीखुर्द बांध की नहर में फंसे एक बारहसिंगा का रेस्क्यू ऑपरेशन किया गया।

20 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper