विज्ञापन

बांग्लादेश के वरिष्ठ अधिकारी ने कहा- ढाका हमले को था ISI का समर्थन

टीम डिजिटल/ अमर उजाला, नई दिल्ली Updated Sun, 03 Jul 2016 05:21 PM IST
attack in bangladesh's capital dhaka
ख़बर सुनें
बीते शुक्रवार की रात बांग्लादेश की राजधानी ढाका स्थित कैफे में हुए हमले में प्रधानमंत्री शेख हसीना के सलाहकार हुसैन तौफीक इमाम ने कहा है कि इस हमले को पाक की खुफिया एजेंसी और वहां के सैनिक जासूसों का समर्थन था। 
विज्ञापन
एनडीटीवी से बात करते हुए इमाम ने कहा कि जिस प्रकार से लोगों को बंधक बनाया गया है और उन बंधको में से एक 19 साल की भारतीय छात्रा तारिषी जैन का होना शक पैदा कर रहा है। उन्होंने कहा कि इस हमले में इस बात की आशंका भी जाहिर की जा रही है कि आतंकी संगठन जमात-उल-मुजाहिदीन की भूमिका भी हो सकती है।

इमाम ने यह भी कहा कि आईएसआई और जमात के संबंध छिपे नहीं है। यह सभी जानते हैं। वे लोग देश की मौजूदा सरकार को हटाना चाहते हैं। सभी की हत्या धारदार हथियारों से की गई है।
विज्ञापन
आगे पढ़ें

आईएस ने ली थी जिम्मेदारी

विज्ञापन

Recommended

समस्त भौतिक सुखों की प्राप्ति हेतु शिवरात्रि पर ज्योतिर्लिंग बाबा वैद्यनाथ मंदिर में करवाएं विशेष शिव पूजा
ज्योतिष समाधान

समस्त भौतिक सुखों की प्राप्ति हेतु शिवरात्रि पर ज्योतिर्लिंग बाबा वैद्यनाथ मंदिर में करवाएं विशेष शिव पूजा

आप भी बन सकते हैं हिस्सा साहित्य के सबसे बड़े उत्सव "जश्न-ए-अदब" का-  यहाँ register करें-
Register Now

आप भी बन सकते हैं हिस्सा साहित्य के सबसे बड़े उत्सव "जश्न-ए-अदब" का- यहाँ register करें-

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Rest of World

अफगानिस्तान में युद्ध खत्म करने पर सहमत हुए अमेरिका, तालिबान

अमेरिका और तालिबान अफगान संकट को खत्म करने पर सहमत हो गए हैं। शनिवार को दोनों पक्षों की तरफ से वार्ताकारों ने 17 साल से जारी युद्ध को खत्म करने पर सहमति व्यक्त की। आधिकारिक सूत्रों ने इस बात की जानकारी दी।

28 जनवरी 2019

विज्ञापन

आखिर के-पॉप क्यों बन रहा है साउथ कोरिया के लिए परेशानी का सबब

एक जैसा दिखने की होड़ में यहां लोग करवा रहे हैं बढ़-चढ़ कर प्लास्टिक सर्जरी, सरकार की बढ़ी परेशानी। अकसर उत्तर कोरिया से बिगड़े रिश्तों को लेकर तनाव में रहनेवाला साउथ कोरिया इन दिनों अजब परेशानी का सामना कर रहा है।

21 फरवरी 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree