विज्ञापन
विज्ञापन

भारत से लौटना नहीं चाहते पाकिस्तानी हिंदू

इसलामाबाद/एजेंसी Updated Fri, 14 Sep 2012 02:22 PM IST
pakistani hindus in India unwilling to return
ख़बर सुनें
इस समय भारत के राजस्थान में मौजूद सैकड़ों पाकिस्तानी हिंदू तीर्थयात्रियों का कहना है कि वे अपने देश लौटना नहीं चाहते। बीबीसी उर्दू सेवा के अनुसार 171 पाकिस्तानी हिंदुओं के एक समूह ने थार एक्सप्रेस से जोधपुर की यात्रा की। हालांकि ये लोग तीर्थयात्रा पर हैं लेकिन उनके नेता का कहना है कि वे पाकिस्तान वापस नहीं जाएंगे। हिंदुओं के कल्याण के लिए काम करने वाले संगठन ‘द समेनाथ लोक संगठन’ ने भारत सरकार से तीर्थयात्रियों को शरणार्थी का दर्जा दिए जाने की अपील की है। पाकिस्तानी हिंदू तीर्थयात्रियों का स्वागत जोधपुर रेलवे स्टेशन पर संगठन के कार्यकर्ताओं ने किया जिन्होंने उनके लिए रहने खाने का प्रबंध कर रखा था।
विज्ञापन
विज्ञापन
गहरे तक जमी जड़ों को काटना कितना संभव

पाकिस्तानी हिंदुओं को भारत में पुन: बसाने के लिए काम कर रहे एसएलएस संगठन के प्रवक्ता ने कहा कि 32 महिलाओं और बच्चों समेत 171 पाक हिंदू सिंध प्रांत के सांघर और हैदराबाद शहरों के रहने वाले हैं। वे भील जनजाति से ताल्लुक रखते हैं। ‘सिंध में हिंदुओं की दयनीय हालत’ के बारे में शिकायत करते हुए एक पाक तीर्थयात्री ने बीबीसी उर्दू से कहा कि उनके पिता का हाल ही में देहांत हुआ लेकिन स्थानीय मुसलिमों ने उन्हें उनका अंतिम संस्कार नहीं करने दिया।

हिंदू तीर्थयात्री ने कहा, ‘हम पाकिस्तान में खतरनाक तरीके से बढ़ते इसलामी कट्टरपंथ को लेकर असुरक्षित महसूस करते हैं। हम पाकिस्तान जाने के बजाय यहां मर जाना अधिक पसंद करेंगे।’ एसएलएस के प्रवक्ता ने कहा कि जोधपुर पहुंचे पाकिस्तानी हताश दिख रहे थे। उन्होंने कहा, ‘वे अपने भविष्य को लेकर चिंतित दिख रहे थे क्योंकि यह दो देशों के बीच का मामला है।’

रिपोर्टों में बताया गया है कि हिंदू , खासतौर से सिंध में रहने वाले हिंदू कई प्रकार के अत्याचार का शिकार हो रहे हैं जिनमें जबरन इसलाम कुबूल करवाया जाना, फिरौती वसूलना और फिरौती के लिए अपहरण जैसी वारदातें शामिल हैं। पाकिस्तानी मीडिया में आयी रिपोर्टों में कहा गया है कि काफी बड़ी संख्या में हिंदू भारत में शरण लेने की योजना बना रहे हैं।

दस अगस्त को राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी ने हिंदुओं पर अत्याचार के मामलों की जांच के लिए संसदीय समिति गठित की थी। सांसदों की इस समिति ने सिंध के विभिन्न शहरों का दौरा कर हिंदुओं से मुलाकात की थी। अपनी प्रारंभिक रिपोर्ट में समिति ने कहा था कि हिंदू ने यह शिकायत दर्ज करायी है कि हिंदू लड़कियों के अपहरण और उनके जबरन धर्मांतरण की घटनाओं ने असंतोष पैदा किया है और अल्पसंख्यक समुदाय में असुरक्षा की भावना है।

Recommended

शनि जयंती (03 जून 2019, सोमवार) के अवसर पर शनि शिंगणापुर में शनि को प्रसन्न करने के लिए तेल अभिषेकम्
Astrology

शनि जयंती (03 जून 2019, सोमवार) के अवसर पर शनि शिंगणापुर में शनि को प्रसन्न करने के लिए तेल अभिषेकम्

कैसे होगा करियर, कैसा चलेगा व्यापार, किसे मिलेगी तरक्की और किसे मिलेगा प्यार ! जानिए विश्वप्रसिद्व ज्योतिषाचार्यो से
Astrology

कैसे होगा करियर, कैसा चलेगा व्यापार, किसे मिलेगी तरक्की और किसे मिलेगा प्यार ! जानिए विश्वप्रसिद्व ज्योतिषाचार्यो से

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get latest World News headlines in Hindi related political news, sports news, Business news, Crime all breaking news and live updates. Stay updated with us for all latest Hindi news.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Pakistan

इमरान खान ने दी जीत की बधाई, पीएम मोदी ने कहा- अमन और विकास को दी प्राथमिकता

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी प्रचंड राजनीतिक जीत की ओर बढ़ रहे हैं। पूरी दुनिया से उन्हें बधाईयां मिल रही हैं। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने भी पीएम मोदी को जीत की बधाई दी है।

24 मई 2019

विज्ञापन

अमर उजाला की महिला सशक्तिकरण की मुहिम ‘अपराजिता’ के तहत 500 महिलाओं ने डाली नाटी

हिमाचल प्रदेश के मंडी में जिलास्तरीय बालीचौकी मेले में बालीचौकी स्कूल मैदान में 500 से अधिक महिलाएं अमर उजाला की महिला सशक्तीकरण की मुहिम ‘अपराजिता’ के तहत एक साथ नाटी डालकर बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ का संदेश दिया।

26 मई 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree