विज्ञापन
विज्ञापन

ताकतवर उल्का पिंड के टकराने से खत्म हुए डायनासोर!

वर्ल्ड डेस्क, ऑस्टिन Updated Sat, 14 Sep 2019 06:15 PM IST
डायनासोर
डायनासोर - फोटो : Social media
ख़बर सुनें

खास बातें

  • क्रिटेशियस काल तक अस्तित्व में रहे डायनासोर के विलुप्त होने को लेकर कई शोध हुए हैं।
  • टैक्सास विवि का ताजा शोध यह कहता है कि किसी ताकतवर उल्कापिंड के टकराने से यह खत्म हुए।
  • अभी तक के अध्ययन के अनुसार डायनासोर केवल मुंह बंद करके गुर्रा सकते थे। उनको दहाड़ना नहीं आता था।
  • 45 मीटर तक लंबी होती थी डायनासोर की पूंछ, जो भागते वक्त उनका बैलेंस बेहतर बनाती थी।
  • 07 करोड़ साल पुराना है डायनासोर का जीवाश्म, जो हमारे देश गुजरात में नर्मदा नदी के पास मिला है।
  • 6.5 करोड़ साल पहले खत्म हो गया था वैज्ञानिकों के अनुसार डायनासोर का अस्तित्व।
  • 16 करोड़ साल तक पृथ्वी पर जिंदा रहे थे डायनासोर। जिस काल में ये जीवित थे उसे मेसोजोइक कहा जाता है।
  • 1842 में ब्रिटिश वैज्ञानिक रिचर्ड ओवेन ने सबसे पहले इस बड़ी छिपकली को डायनासोर नाम दिया था।
डायनासोर के खत्म होने को लेकर उल्का के पृथ्वी से टकराने की थ्योरी के बारे में ऑस्टिन टैक्सास विश्वविद्यालय के वैज्ञानिकों ने कुछ नए खुलासे किए हैं। उनका दावा है कि करीब 81 किमी बड़े आकार की उल्का पृथ्वी पर जिस जगह टकराई थी, वह मौजूदा समय में मैक्सिको के निकट है। इसने द्वितीय विश्व युद्ध में उपयोग किए गए परमाणु बमों जैसे 1000 करोड़ बमों के बराबर ताकत से पृथ्वी को टक्कर मारी थी।
विज्ञापन
वैज्ञानिकों के अनुसार, इसकी वजह से हजारों किमी. क्षेत्र में आग लग गई थी। साथ ही सुनामी पैदा हुई, जिसकी सैकड़ों मीटर ऊंची लहरें अमेरिका के मौजूदा इलिनॉयस तक पहुंच गई थी। इसमें पृथ्वी पर मौजूद 75 प्रतिशत जीव खत्म हो गए थे, जिनमें डायनासोर प्रमुख थे। इलिनॉयस आज समुद्र तट से करीब 750 किमी दूर है।

वैज्ञानिकों के अनुसार टकराव स्थल समुद्र सतह से 500 से 1300 मीटर की गहराई पर है। इसकी वजह से मैक्सिको की खाड़ी में एक बड़ा क्रेटर बना। इस क्रेटर में विस्फोट के तुरंत बाद भारी मात्रा में कोयला, मिट्टी व विस्फोट से फैले अन्य तत्व जमा होते गए। इसी वजह से यहां टकराव और विस्फोट के हालात की जानकारी देने वाले तत्व मिल रहे हैं।

यह हुआ था टकराव के बाद

उल्का के टकराव के बाद करीब 32500 करोड़ टन तत्व पृथ्वी के वातावरण में बिखर गए। इससे वातावरण नष्ट हुआ व सूर्य की किरणें लंबे समय के लिए पृथ्वी पर आने से रुक गईं। इससे तापमान में भारी गिरावट आई। डायनासोर जैसे बड़े जीव खत्म हो गए। एक अन्य शोध के अनुसार जीव वैज्ञानिकों को अभी तक मिले जीवाश्मों से डायनासोर की 1000 हजार से अधिक प्रजातियों का पता चला है। अब तक खोजे गए डायनासोरों के जीवाश्मों में से सबसे बड़ा डायनासोर जीवाश्म अमेरिका के व्योमिंग राज्य में मिला था। इस जीवाश्म की लंबाई 27 मीटर है। डायनासोर के कंकाल दुनिया के हर कोने में मिले हैं। उस काल में मांसाहारी और शाकाहारी दोनों तरह के डायनासोर अस्तित्व में थे।

10 मीटर का क्रायोड्रेकन था धरती पर उड़ने वाला सबसे बड़ा जीव

अपने डैनों के 10 मीटर विस्तार के साथ क्रायोड्रेकॉन बोरियस हमारी पृथ्वी पर उड़ने वाले सबसे बड़े जीवों में से एक था।  करीब 30 वर्ष पूर्व कनाडा के अल्बर्टा में मिले अवशेषों के आधार पर क्वीन मैरी विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं ने यह दावा किया है। इस बारे में उनकी रिपोर्ट जर्नल ऑफ वर्टिब्रेट पेलियनटॉलोजी के सितंबर के अंक में प्रकाशित की गई है। अवशेषों की खोज के बाद माना जा रहा था कि क्रायोड्रेकॉन अमेरिका के टेक्सास में पहले खोजी गई टेरोसोर प्रजाति का एक डानयासोर है।

ताजा अध्ययन रिपोर्ट में इसे अलग जीव घोषित किया गया है। अध्ययनकर्ता डॉ डेविड होन और माइकल हबीब के मुताबिक यह एक बड़ी खोज है। ऐसी संभावनाएं जताई गई थीं कि इतने बड़े उड़ने वाले जीव पृथ्वी पर कभी रहे होंगे, लेकिन अब यह पुख्ता तौर पर कहा जा सकता है। 

अल्बर्टा में मिले अवशेष

यह पृथ्वी के आसमान में करीब 7.7 करोड़ वर्ष पूर्व राज करता था। अल्बर्टा में इस जीव के पांव, पंख, गर्दन और पसलियों के अवशेष मिले थे। यह युवा क्रोयोड्रेकॉन था, जिसके पंखों का विस्तार लगभग 5 मीटर था। एक वयस्क क्रायोड्रेकॉन की विशाल गर्दन के अवशेष भी मिले, उसके पंखों का आकार 10 मीटर आंका गया।

7.7 करोड़ वर्ष पूर्व आसमान में करता था राज

अध्ययनकर्ताओं के अनुसार, क्रायोड्रेकॉन मांसाहारी था। इसका शिकार स्तनधारी, अन्य छोटे डायनासोर के बच्चे और सरीसृप थे। यह आसमान से उन पर हमला करता था। बाकी जीवों में उस भय की कल्पना की जा सकती है, जब आसमान से क्रायोड्रेकॉन का हमला होता था। यह भी अनुमान है कि वे उड़कर महासागर पार करने की क्षमता रखते थे।
विज्ञापन
आगे पढ़ें

ये प्राणी भी हैं विलुप्ति की कगार पर

विज्ञापन

Recommended

OPPO के Big Diwali Big Offers से होगी आपकी दिवाली खूबसूरत और रौशन
Oppo Reno2

OPPO के Big Diwali Big Offers से होगी आपकी दिवाली खूबसूरत और रौशन

कराएं दिवाली की रात लक्ष्मी कुबेर यज्ञ, होगी अपार धन, समृद्धि  व्  सर्वांगीण कल्याण  की प्राप्ति : 27-अक्टूबर-2019
Astrology Services

कराएं दिवाली की रात लक्ष्मी कुबेर यज्ञ, होगी अपार धन, समृद्धि व् सर्वांगीण कल्याण की प्राप्ति : 27-अक्टूबर-2019

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get latest World News headlines in Hindi related political news, sports news, Business news all breaking news and live updates. Stay updated with us for all latest Hindi news.

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

World

पर्यटकों को लुभाने के लिए नई पहल, 'फ्लाई मी टू थाईलैंड' में मिलेगी आकर्षक छूट और ऑफर

थाईलैंड के पर्यटन प्राधिकरण (टीएटी) और बैंकॉक एयरवेज ने इस महीने से कंबोडिया, लाओ पीडीआर, म्यांमार और वियतनाम, मलेशिया, सिंगापुर और भारत से आने वाले यात्रियों को लुभाने के लिए नई पहल 'फ्लाई मी टू थाईलैंड' की शुरूआत की है।

21 अक्टूबर 2019

विज्ञापन

अतरंगी मिजाज से फिर रणवीर ने लूटी महफिल, स्टेज पर ही उछल-उछल कर नाचने लगे एक्टर

रणवीर सिंह के अतरंगी मिजाज से सभी परिचित हैं। मुंबई में एक फैशन शो के दौरान रणवीर ये रूप एक बार फिर देखने को मिला। रणवीर शो के दौरान स्टेज पर ही डांस करने लगे। उन्होंने वहां मौजूद दर्शकों के साथ हाथ मिलाया, उनसे बात की।

21 अक्टूबर 2019

Related

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree