विज्ञापन

सऊदी अरब मनोरंजन पर करेगा अरबों डॉलर खर्च

बीबीसी हिंदी Updated Sat, 24 Feb 2018 04:33 AM IST
सऊदी अरब
सऊदी अरब
विज्ञापन
ख़बर सुनें
इंटरटेनमेंट इंडस्ट्री और सऊदी अरब, ये दो चीजें ऐसी हैं जो अब तक बहुत ज्यादा मेल नहीं खाती थीं। लेकिन सऊदी अरब ने ये कहा है कि वो अगले दशक में अपनी एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री को विकसित करने के लिए 64 अरब डॉलर का निवेश करेगा। सऊदी अरब के 'जेनरल एंटरटेनमेंट अथॉरिटी' के चीफ ने बताया है कि सिर्फ इस साल पांच हजार इवेंट्स आयोजित किए जाएंगे।
विज्ञापन
रियाद में देश के पहले ओपेरा हाउस के निर्माण का काम शुरू हो गया है। ये निवेश सऊदी अरब के आर्थिक और सामाजिक सुधार कार्यक्रम का हिस्सा है। दो साल पहले क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान ने देश के आर्थिक और सामाजिक सुधार कार्यक्रमों का ख़ाका रखते हुए विजन 2030 दस्तावेज जारी किया था। 32 वर्षीय प्रिंस ये चाहते हैं कि सऊदी अरब की तेल पर निर्भरता कम हो।

इसके तहत लोगों को सांस्कृतिक गतिविधियों और मनोरंजन पर खर्च बढ़ाने के लिए प्रेरित करना भी है। दिसंबर में सरकार ने सिनेमा पर लगी रोक हटा ली थी। 'जेनरल एंटरटेनमेंट अथॉरिटी' के चीफ़ अहमद बिन अल-खातिब को उम्मीद है कि साल 2018 के आख़िर तक एंटरटेनमेंट सेक्टर में 220,000 लोगों को रोजगार मिलेगा। पिछले साल तक इस सेक्टर में 17,000 लोग नियोजित थे।

अहमद बिन अल-खातिब ने कहा, "अतीत में निवेशकों को सऊदी अरब के बाहर जाकर अपना काम करना पड़ता था और फिर वापस आकर अपना काम दिखलाते थे। अब चीजें बदलेंगी। मनोरंजन से जुड़ा हर काम यहां होगा। खुदा ने चाहा तो साल 2020 तक आप यहां बदलाव देखेंगे।" रियाद के पास लास वेगास की तर्ज पर एक बड़ी एंटरटेनमेंट सिटी की योजना पर पहले से काम किया जा रहा है।

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें  
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Gulf Countries

दुनिया का जाना-माना रईस हो गया है कर्जदार, अब नीलाम होगी संपत्ति

साने ने 2009 में दिवालिया होने के बाद, कई मौकों के बावजूद किसी का पैसा नहीं लौटाया।

17 सितंबर 2018

विज्ञापन

Related Videos

चीन से कनेक्शन का इस सिंगर ने किया खुलासा, यूपी में मिला था सेलेब्रिटी होने का एहसास

क्या है सुपर सिंगर मेयांग चांग का चीन से कनेक्शन और कैसे सीखी उन्होंने फर्रादेदार हिंदी, देखिए अमर उजाला टीवी से इस खास मुलाकात में।

21 सितंबर 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree