बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

सिगरेट के कश में स्वाहा होती औरतें

बीबीसी हिंदी Updated Fri, 25 Jan 2013 12:15 PM IST
women smoking death risk highest ever
विज्ञापन
ख़बर सुनें
एक नए शोध के मुताबिक 60 के दशक के मुकाबले आज की तारीख में धूम्रपान करने वाली महिलाओं की मौत के आसार बढ़ गए हैं।
विज्ञापन


आजकल महिलाएं कम उम्र में सिगरेट पीना शुरु कर देती हैं और कई महिलाएं ज्यादा सिगरेट पीती हैं। इन बदलती हुई आदतों के कारण फेफड़ों के कैंसर का रिस्क बढ़ गया है।

ये बातें न्यू इंग्लैंड जर्नल ऑफ मेडिसन में छपी हैं। इनसे पता चला है कि धूम्रपान के कारण अब पुरुषों की ही तरह महिलाएं भी बड़ी संख्या में मर रही हैं।

ऑक्सफर्ड यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर रिचर्ड पेटो कहते हैं कि अगर महिलाएं पुरुषों की तरह सिगरेट पीने लगेंगी तो पुरुषों की ही तरह मरेंगी भी। शोध में अमेरिका की 20 लाख से ज्यादा महिलाओं से इकट्ठा किए डाटा पर नजर डाली गई।


माइल्ड सिगरेट से खतरा कम नहीं
50 और 60 के दशक में महिलाओं के धूम्रपान करने का चलन तेजी से शुरु हुआ। शुरुआती वर्षों में सिगरेट पीने वाली महिलाओं में लंग कैंसर से मौत की आशंका सामान्य लोगों के मुकाबले तीन गुना अधकि होती थी।

लेकिन वर्ष 2000 से 2010 के बीच धूम्रपान करने वाली महिलाओं में लंग कैंसर से मौत की आशंका सामान्य लोगों के मुकाबले 25 गुना हो गई है। पुरुषों में भी ऐसा ही रुझान पाया गया है।

मुख्य शोधकर्ता डॉक्टर माइकल थुन कहते हैं कि पिछले कई दशकों से धूम्रपान करने वाली महिलाओं के लिए खतरा बढ़ रहा है। ये तब जब महिलाएं आमतौर ऐसी ब्रैंड की सिगरेट पीती हैं जिन पर लिखा रहता था कि इनमें कम निकोटिन है।

इसका मतलब है कि ‘लाइट’ और ‘माइल्ड’ सिगरेट ब्रैंड महिलाओं में खतरे को कम नहीं करते। पिछले साल छपे शोध में पाया गया था कि जो महिलाएं ताउम्र सिगरेट पीती हैं वो कभी धूम्रपान न करने वाली महिलाओं से एक दशक पहले मर जाती हैं।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get latest World News headlines in Hindi related political news, sports news, Business news, Crime all breaking news and live updates. Stay updated with us for all latest Hindi news.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00