'My Result Plus

मोदी सरकार के चंगुल में 'फंसा' भगोड़ा नीरव, हांग कांग में जल्द हो सकता है गिरफ्तार

न्यूज डेस्क, अमर उजाला Updated Mon, 09 Apr 2018 05:06 PM IST
china has said hong kong to accept india's request to arrest nirav modi
ख़बर सुनें
भगोड़े भारतीय हीरा व्यापारी नीरव मोदी को स्थानीय कानूनों और आपसी न्यायिक सहायता समझौतों के आधार पर गिरफ्तार करने के भारत के अनुरोध को हांग कांग स्वीकार कर सकता है। चीन ने सोमवार को यह बात कही। पता चला है कि पीएनबी घोटाले का आरोपी नीरव मोदी कथित तौर पर हांगकांग में रह रहा है। जो कि चीन का विशेष प्रशासनिक क्षेत्र है।
बीते हफ्ते विदेश मामलों के राज्य मंत्री वीके सिंह ने संसद में एक प्रश्न के लिखित उत्तर का जवाब देते हुए कहा था कि विदेश मंत्रालय ने हांगकांग विशेष प्रशासनिक क्षेत्र, पीपुल्स रिपब्लिक ऑफ चाइना सरकार से नीरव की अंतरिम गिरफ्तारी का अनुरोध किया है। उन्होंने यह भी बताया कि विदेश मंत्रालय ने नीरव मोदी और मेहुल चौकसी के पासपोर्ट भी रद्द कर दिए हैं।  

भारत के निवेदन पर चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गेग शुआंग का कहना है कि एक देश दो सिस्टम के मुताबिक और बेसिक कानून का पालन करते हुए हांगकांग विशेष प्रशासनिक क्षेत्र (एचकेएसएआर) किसी अन्य देश की न्यायिक पारस्परिक सहायता के लिए उचित व्यवस्था करेगा।

उन्होंने कहा अगर भारत एचकेएसएआर से प्रसांगिक अनुरोध करता है तो एचकेएसएआर बेसिक कानूनों और प्रासंगिक कानूनों का पालन करते हुए प्रासंगिक न्यायिक समझौतों के तहत भारत की मदद जरूर करेगा।

गौरतलब है कि पंजाब नैशनल बैंक से 12,700 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी का आरोपी नीरव मोदी और मेहुल चौकसी देश छोड़कर भाग गए थे। विदेश मंत्रालय ने दोनों को ही 16 फरवरी को शो कॉड नोटिस भी जारी किए थे। उन्हें एक हफ्ते में इसका जवाब देने को कहा गया था पर उनकी तरफ से कोई जवाब न आने के बाद 23 फरवरी 2018 को उनके पासपोर्ट रद्द कर दिए गए।

RELATED

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get latest World News headlines in Hindi related political news, sports news, Business news, Crime all breaking news and live updates. Stay updated with us for all latest Hindi news.

Spotlight

Most Read

China

अमेरिकी रिपोर्ट में खुलासा, चीन के दावे के उलट है सिल्क रोड परियोजना का वास्तविक उद्देश्य

एक रिपोर्ट में चीन की महत्वाकांक्षी ‘सिल्क रोड परियोजना’ के वास्तविक उद्देश्य का खुलासा किया गया है। रिपोर्ट के अनुसार, चीन के सिल्क रोड परियोजना का उद्देश्य सामरिक है और वह अपने राजनीतिक प्रभाव और सैन्य उपस्थिति को बढ़ाना चाहता है।

18 अप्रैल 2018

Related Videos

आधी रात को LU के गर्ल्स हॉस्टल में घुसे तीन लड़के, फिर हुआ ये कांड

लखनऊ विश्वविद्यालय के चंद्रशेखर गर्ल्स हॉस्टल में बुधवार रात तीन लड़के दीवार फांदकर घुस आए और कमरों में तांक-झांक करने लगे।

19 अप्रैल 2018

आज का मुद्दा
View more polls

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen