Hindi News ›   World ›   America ›   Moab bomb : Eight things to know about GBU-43, 'the mother of all bombs'

अमेरिका ने ISIS पर गिराया सबसे बड़ा बम, जानिए 8 खास बातें

amarujala.com- Presented by: जया पाण्डेय Updated Fri, 14 Apr 2017 01:03 PM IST
मदर ऑफ ऑल बम (फाइल फोटो)
मदर ऑफ ऑल बम (फाइल फोटो)
विज्ञापन
ख़बर सुनें

आतंकवाद पर कार्रवाई के तहत अमेरिका ने गुरुवार को पूर्वी अफगानिस्तान के नांगरहार प्रांत के अचिन जिले में आईएसआईएस के ठिकानों को नष्ट करने के लिए 'GBU-43' नाम का गैर परमाणु बम गिराया है। इस बम को 'मदर ऑफ आल बम' (MOAB) निकनेम दिया गया है। इसे अमेरिका का सबसे शक्तिशाली बम बताया जा रहा है।

विज्ञापन


ये भी पढ़ें- IS के ठिकाने को तबाह करने के लिए अमेरिका ने अफगानिस्तान पर गिराया 10 टन का बम 


जानें इस बम की 8 खास बातें -

- इस बम का वजन 21,600 पाउंड यानी करीब 10 क्विंटल है, जिसे GBU-43/B मैसिव ऑर्डिनेंस एयर ब्लास्ट (MOAB) बम जीपीएस गाइडेड है।

- ये ऐसा पहली बार हुआ है जब अमेरिका ने इस बम का इस्तेमाल प्रतिरोध या युद्ध के लिए किया हो। 

- इस बम को अमेरिकी सेना के अधिकारी अल्बर्ट वेमोर्ट्स ने विकसित किया था और इसका परीक्षण 2003 में पहली बार किया गया था।

- परीक्षण के बाद इस बम को इराक युद्ध के दौरान बनाया गया था, लेकिन इसका इस्तेमाल पहली बार अब किया गया है।

- प्रत्येक MOAB बम की लागत लगभग 1.60 करोड़ डॉलर पड़ती है।

- रूस ने भी इससे भी ज्यादा शक्तिशाली बम विकसित किया है, जिसे रूस ने फादर ऑफ ऑल बम (FOAB) का नाम दिया है। 

- बम का आकार 30 फुट (9 मीटर) लंबा तथा 40 इंच (एक मीटर) चौड़ा होता है।

- यह बम जमीन से छह फुट ऊपर ही फट जाता है।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get latest World News headlines in Hindi related political news, sports news, Business news, Crime all breaking news and live updates. Stay updated with us for all latest Hindi news.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00