अक्षर और भाषा शैली का गुस्से से नाता

बीबीसी हिंदी Updated Tue, 25 Dec 2012 10:02 PM IST
early language skills help kids manage anger better
अगर कोई मासूम अपने बचपने में तेजी से अक्षरों को पहचानना सीख रहा है, साफ साफ बोलने की कोशिश कर रहा है तो यकीन मानिए उसका दोहरा फायदा होने वाला है। एक तो इससे वह खुद को बेहतर ढ़ंग से अभिव्यक्त कर पाएगा और दूसरे उम्र बढ़ने के साथ उसे गुस्सा कम आएगा।

जी हां, ये देखा गया है कि 2 साल के वैसे मासूम बच्चे जो अक्षरों को आसानी से पहचाने लगते हैं, अपनी बात पूरे वाक्यों में कहने की कोशिश करते हैं, वे 4 साल की उम्र में पहुंचने पर आम बच्चों के मुकाबले कम गुस्सा करते हैं। इस शोध के दौरान यह भी देखा गया कि चार साल के वैसे मासूम जो तेजी से अपनी भाषा को बेहतर करने की कोशिश करते हैं उन्हें भी कम गुस्सा आता है।

आसान हो जाती है मुश्किल
लाइव साइंस में प्रकाशित शोध अध्ययन के मुताबिक 18 महीने के 120 बच्चों के व्यवहार का तब तक अध्ययन किया गया जब तक वे 4 साल के नहीं हो गए। इस दौरान इन बच्चों के भाषा ज्ञान को आंकने वाले तमाम प्रयोग किए गए और उलक्षण पैदा करने वाले मुश्किल काम भी दिए गए।

इसमें एक काम ऐसा भी था जिसमें बच्चों को कहा गया था कि आप किसी उपहार को खोलने से पहले आठ मिनट तक इंतजार करें। दरअसल ये देखा गया है कि बेहतर भाषा शैली मासूम बच्चों के गुस्से पर काबू पाने में दो तरह से मदद करती है। पहली तो बच्चे जब मुसीबत या किसी उलक्षण में होते हैं तो बेहतर भाषा शैली होने के चलते वे अपने माता-पिता से मदद मांग लेते हैं।

माता-पिता के नहीं होने पर अपने टीचर या अन्य किसी से मदद मांगने में भी नहीं हिचकते। इसके अलावा बेहतर भाषा शैली वाले बच्चे खुद भी अपने गुस्से पर काबू पाने की कोशिश करते हैं।

पेनसेल्विनिया स्टेट विश्वविद्यालय की शोध दल की सदस्या पामेला कोल कहती हैं कि बेहतर भाषा शैली वाले बच्चे अपनी उलक्षण और मुश्किलों के बारे में दूसरों को आसानी से बता पाते हैं।

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get latest World News headlines in Hindi related political news, sports news, Business news, Crime all breaking news and live updates. Stay updated with us for all latest Hindi news.

Spotlight

Most Read

America

अमेरिकी रिपोर्ट: मोदी के अंदाज में अफगान वार्ता में बोले ट्रंप

अफगानिस्तान में अमेरिका नीति पर वार्ता के दौरान ट्रंप मोदी के अंदाज में भारतीय एसेंट में बोलते सुने गए।

23 जनवरी 2018

Related Videos

भोजपुरी की 'सपना चौधरी' पड़ी असली सपना चौधरी पर भारी, देखिए

हरियाणा की फेमस डांसर सपना चौधरी को बॉलीवुड फिल्म का ऑफर तो मिल गया लेकिन भोजपुरी म्यूजिक इंडस्ट्री में उनके लिए एंट्री करना अब भी मुमकिन नहीं हो पा रहा है।

22 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper