किम जोंग को डर गद्दाफी जैसा न हो हाल, ट्रंप का वादा- त्याग दो परमाणु हथियार

वर्ल्ड डेस्क, अमर उजाला Updated Fri, 18 May 2018 05:44 PM IST
Donald Trump promise security to kim jong un after denuclearize
ख़बर सुनें
अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन के बीच 12 जून को होने वाली प्रस्तावित बातचीत अधर में लटकती नजर आ रही है। वजह है उत्तर कोरिया का अपने परमाणु निरस्त्रीकरण कार्यक्रम को ना रोकना। जबकि ट्रंप की जिद्द है कि उत्तर कोरिया हर हाल में ऐसा करे।
ट्रंप का कहना है कि उत्तर कोरिया को अब सुरक्षा तभी दी जाएगी जब वह परमाणु हथियारों का पूरी तरह से त्याग न कर दे। ट्रंप ने साफ शब्दों में कहा है कि अब सिर्फ सुरक्षा तभी मिलेगी जब उत्तर कोरिया अपनी जिद्द को छोड़ देगा। अगर किम जोंग ऐसा करते हैं तो अमेरिका उत्तर कोरिया को बेहतर से बेहतर सुरक्षा प्रदान करेगा। 

 किम जोंग को डर गद्दाफी जैसा न हो हाल

दरअसल उत्तर कोरिया ने अपने इस डर के पीछे 'लीबिया मॉलड' का उदाहरण दिया है। मालूम हो कि साल 2003 में अमेरिका ने लीबिया तानाशाह गद्दाफी को परमाणु निरस्त्रीकरण के लिए मना लिया था। जिसके बाद उन्होंने अपने परमाणु हथियारों का निरस्त्रीकरण कर दिया था। लेकिन साल 2011 आते-आते गद्दाफी का यह दावा उल्टा पड़ा और उसे लीबिया में विद्रोहियों का जबर्दस्त सामना करना पड़ा। जिसका अंजाम यह हुआ कि उसे जनता के बीच मौत के घाट उतार दिया गया।  तब वहां अमेरिकी ने दखल देते हुए विद्रोहियों को अपना समर्थन दिया था।

संयुक्त सैन्य अभ्यास 'मैक्स ठंडर' में कोई बदलाव नहीं

ट्रंप ने कहा कि अमेरिका और दक्षिण कोरिया की वायुसेना के बीच चलने वाला संयुक्त सैन्य अभ्यास 'मैक्स ठंडर' के कार्यक्रम में कोई बलदाव नहीं किया गया। वहीं पेंटागन के प्रवक्ता डाना वाइट ने भी इस बात की पुष्टि की है। उन्होंने कहा कि यह सैन्य अभ्यास योजनाबद्ध, रक्षात्मक और दोनों देशों के बीच आपसी सहयोग के लिए है।

RELATED

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get latest World News headlines in Hindi related political news, sports news, Business news, Crime all breaking news and live updates. Stay updated with us for all latest Hindi news.

Spotlight

Most Read

America

भाजपा महासचिव ने कहा-1984 में सिख विरोधी दंगा फैलाने वाले दंगाइयों को बख्शा नहीं जाएगा

केंद्र की राजग सरकार में भारतीय जनता पार्टी के एक वरिष्ठ नेता का कहना है कि वह 1984 में हुए सिख विरोधी दंगों के पीड़ितों को न्याय दिलाने का हर संभव प्रयास करेगी।

21 मई 2018

Related Videos

पाकिस्तान की नापाक हरकत समेत 05 बड़ी खबरें

अमर उजाला टीवी पर देश-दुनिया की राजनीति, खेल, क्राइम, सिनेमा, फैशन और धर्म से जुड़ी खबरें। पाकिस्तान नहीं आ रहा अपनी हरकतों से बाज, अरनिया में थाने पर गिरा पाक की ओर से दागा गया मोर्टार, बीएसएफ ने दिया मुंहतोड़ जवाब।

21 मई 2018

आज का मुद्दा
View more polls

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen