अमेरिका की चेतावनीः एटमी हथियारों की फिराक में हैं आतंकी, समर्थन करने वाले देश होंगे जिम्मेदार

न्यूयॉर्क टाइम्स न्यूज सर्विस, वाशिंगटन Updated Sat, 03 Feb 2018 06:05 PM IST
fidayeen terrorist
fidayeen terrorist
ख़बर सुनें
अमेरिका ने आतंकवादियों का समर्थन करने वाले देशों को बड़ी चेतावनी दी है। उसने कहा है कि आतंकवादी संगठन किसी भी तरह से परमाणु हथियार जुटाने की तैयारी में जुटे हैं। अमेरिका ने कहा कि यदि आतंकवादी परमाणु हथियार हासिल करने में सफल हो जाते हैं तो उनका समर्थन करने वाले देश ही इसके लिए जिम्मेदार होंगे। अमेरिका ने एक रिपोर्ट पेश करते हुए चेताया कि यदि अमेरिका और उसका समर्थन करने वाले देशों पर परमाणु हमला होता है तो उसके गंभीर परिणाम होंगे।
अमेरिकी रक्षा मंत्रालय में राजनीतिक मामलों को उपमंत्री टॉम शेनॉन पेंटागन में ट्रंप प्रशासन की परमाणु स्थिति समीक्षा (एनपीआर) रिपोर्ट पेश करते हुए कहा कि अमेरिका परमाणु हथियार हथियाने में जुटे आतंकियों का समर्थन करने वाले किसी भी गैर-राजनीतिक अथवा आतंकी संगठन की जवाबदेही तय करेगा। हालांकि शेनॉन और एनपीआर की सौ पन्नों वाली इस रिपोर्ट में कहीं भी यह नहीं बताया गया है कि आतंकवादियों के हाथ किन देशों के सहयोग से परमाणु हथियार लग सकते हैं। इस रिपोर्ट में आतंकियों की मदद करने वाले किसी भी देश की पहचान उजागर नहीं की गई है।
आगे पढ़ें

उत्तर कोरिया, पाकिस्तान और ईरान पर संदेह

RELATED

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get latest World News headlines in Hindi related political news, sports news, Business news, Crime all breaking news and live updates. Stay updated with us for all latest Hindi news.

Spotlight

Most Read

America

ब्राजील के सुदूर द्वीप पर 12 साल बाद हुआ बच्चे का जन्म, जश्न का माहौल

ब्राजील के एक सुदूर द्वीप में 12 साल बाद किसी बच्चे का जन्म हुआ है। इस द्वीप पर बच्चों को जन्म देने पर प्रतिबंध लगा हुआ है मगर फिर भी नए मेहमान के आने पर जश्न मनाया जा रहा है।

21 मई 2018

Related Videos

अधिकारियों से संबंध बनाने को कहता था पति, इंकार करने पर कर दिया ये हाल

गुजरात के अहमदाबाद में एक दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है। इस वीडियो में महिला का पति और उसकी सास बेरहमी से उसे मार रहे है। देखिए रिपोर्ट।

21 मई 2018

आज का मुद्दा
View more polls

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen