विज्ञापन
विज्ञापन

भगवान से डरती हुई दुनिया

Rakesh Jhaराकेश कुमार झा Updated Fri, 03 Aug 2012 04:57 PM IST
world fears god
ख़बर सुनें
ईश्वर के प्रति लगाव और उसका डर नहीं होता तो यकीन मानिए दुनिया आज जैसी भी है, उससे कम से कम दस गुना ज्यादा खराब होती। महात्मा गांधी का वह प्रसंग प्रसिद्ध है जिसमें एक अनीश्वरवादी उनसे दलील करता है कि आप कहते हैं कि अगर भगवान है तो दुनिया में इतनी अनीति और अन्याय क्यों है? गांधी जी का उत्तर था कि ईश्वर के होने के वावजूद दुनिया की यह हालत है। सोचो अगर वह नहीं होता तो दुनिया की क्या हालत होती।
विज्ञापन
विज्ञापन
गांधीजी की इस दलील को टैक्सास की बेयलर यूनिविर्सिटी में पिछले दो साल से चल रहे एक विचित्र और व्यापक अध्ययन में तार्किक परिणति मिली है। अध्ययनों का सारतत्व बताते हुए विश्वविद्यालय के प्रोफेसर बायरन जानसन ने कहा है कि अध्ययन में 1944 से 2010 तक हुए 273 शोध सर्वे शामिल किए गए हैं। नतीजों के अनुसार 90 प्रतिशत लोगों का मानना है कि ईश्वर को जवाब देना पड़ेगा, इसलिए वे गलत काम नहीं करते।

बायरन के निष्कर्ष ‘मोर गॉड लेस क्राइम’ नाम से प्रकाशित रिपोर्ट में अब तक हुए सर्वे को परखने के लिए अलग अलग पैमाने अपनाए गए ताकि नतीजे ज्यादा प्रामाणिक हों। इन अध्ययनों में दूसरे विश्व युद्ध और उसके बाद की स्थितियों से लेकर छोटे मोटे 150 युद्धों और दंगों के समय मनुष्य के व्यवहार में आए अचानक बदलावों को भी रेखांकित किया गया।

अध्ययन में बोस्टन, शिकागो और फिलाडेल्फिया के 2358 युवकों को शामिल किया गया। वे सभी प्रायः एक जैसी सामाजिक स्थिति और समान शैक्षणिक पारिवारिक पृष्ठभूमि से आए थे। देखा गया है कि उनमें जो युवक चर्च या किसी और आराधना स्थल पर जाते थे उनका रुझान अपेक्षाकृत ज्यादा सामाजिक था। रिचार्ड फ्रीमेन ने तो सुझाव दिया है कि लोगों को नैतिक बनाने के लिए धर्मसभाओं के जरिए या और तरीकों से भी ईश्वर पर विश्वास को बढ़ावा देना चाहिए।

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
सबसे विश्वशनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें आस्था समाचार से जुड़ी ब्रेकिंग अपडेट। आस्था जगत की अन्य खबरें जैसे पॉज़िटिव लाइफ़ फैक्ट्स, परामनोविज्ञान समाचार, स्वस्थ्य संबंधी योग समाचार, सभी धर्म और त्योहार आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Festivals

भारतीय संस्कृति की गौरव गरिमा का प्रतीक वट-सावित्री व्रत

ज्येष्ठ मास के कृष्ण पक्ष की अमावस्या वट सावित्री अमावस्या कहलाती है। इस दिन सौभाग्यवती महिलाएं अखंड सौभाग्य प्राप्त करने के लिए वट सावित्री व्रत रखकर वटवृक्ष और यमदेव की पूजा करती हैं।

24 मई 2019

विज्ञापन

लोकसभा चुनाव में आजम खान से हारीं जया प्रदा करेंगी BJP में 'गद्दारी' की शिकायत

लोकसभा चुनाव 2019 में हाई प्रोफाइल सीट रामपुर से भाजपा प्रत्याशी जया प्रदा का बयान सामने आया है। जया प्रदा ने भाजपा के भीतरघात को अपनी हार का कारण बताया है।

24 मई 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree