जब उस महिला ने शिव के अवतार से कामशास्त्र पर प्रश्न करना शुरु किया

Rakesh Jhaराकेश कुमार झा Updated Mon, 05 May 2014 10:25 AM IST
विज्ञापन
story shankaracharya birthday

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

ख़बर सुनें
भविष्य पुराण में भगवान बताया गया है कि भगवान शिव का एक अवतार वैशाख शुक्ल पंचमी तिथि को हुआ था। इस वर्ष यह तिथि 4 मई को है। भगवान शिव के इस अवतार का नाम है शंकर जो अपनी विद्वता के कारण शंकराचार्य कहलाए। ऐसी मान्यता है कि 32 वर्ष के अल्प जीवन काल में ही इन्होंने ने भारत के चारों दिशाओं में चार धाम ब्रदीनाथ, द्वारका, रामेश्वरम, जगन्नाथ पुरी की स्थापना की।
विज्ञापन

केदारनाथ को पुनः प्रतिष्ठित करने वाले भी शंकाराचार्य माने जाता हैं। इसके अलावा इन्होंने जोशीमठ को भी परम पावन स्थान के रूप में मान्यता दिलायी। शंकराचार्य ने सात वर्ष की उम्र में संन्यास ग्रहण कर लिया था। इस उम्र ही इन्होंने वेदों, पुराणों, उपनिषदों एवं रामायण और महाभारत को याद कर लिया।
विज्ञापन
आगे पढ़ें

शंकराचार्य का चमत्मकार

विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें आस्था समाचार से जुड़ी ब्रेकिंग अपडेट। आस्था जगत की अन्य खबरें जैसे पॉज़िटिव लाइफ़ फैक्ट्स, परामनोविज्ञान समाचार, स्वास्थ्य संबंधी योग समाचार, सभी धर्म और त्योहार आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us