विज्ञापन
विज्ञापन

इस तरह पता चला मछली पूर्वजन्म में धोखेबाज इंसान थी

ओशो Updated Tue, 04 Nov 2014 04:59 PM IST
Bad smell from Golden fish
ख़बर सुनें
भगवान बुद्ध श्रावस्ती में विहार कर रहे थे। पास की केवट बस्ती के कुछ मल्लाहों ने स्वर्ण-वर्ण की एक अद्भुत मछली पकड़ी। मल्लाहों ने ऐसी मछली पहले न देखी थी। वे राजा के पास गए। राजा को भी कुछ समझ नहीं आया, तो वह उसे भगवान के पास ले गए। और उसी समय मछली ने अपना मुख खोला। राजा ने पूछा : भंते, इसका शरीर स्वर्ण वर्ण का क्यों हो गया। और इसके मुख से कितनी दुर्गंध आ रही है!
विज्ञापन

देखें, स्त्रियों की नाभि देखिए और जानिए उनके बड़े राज


भगवान ने मछली को गौर से देखा और चले गए उसके पूर्व जन्म में। उन्होंने कहा, यह कोई साधारण मछली नहीं है। यह कश्यप बुद्ध के शासन काल में कपिल नाम का महापंडित भिक्षु था। इसने संन्यास धारण किया था। त्रिपुटक था, ज्ञानी था, विद्यावान था। इसने अपने गुरु को धोखा दिया।

पढ़ें,साप्ताहिक राशिफलः 3 नवंबर से 9 नवंबर तक का हाल जानिए

इसकी देह तो स्वर्ण की हो गई, पर अंदर दुर्गंध भरी रह गई। राजा ने कहा, आप इस मछली के मुख से कहलाएं, तो मानें। भगवान हंसे और उन्होंने राजा को देखा। मछली की आंखों में झांककर उन्होंने कहा, याद करो, भूले को याद करो, तुम्हीं हो कपिल, झांककर देखो!

मछली बोली : हां, मैं ही कपिल हूं। और उसकी आंखों से पश्चाताप के आंसू भर आए। आगे कोई शब्द नहीं निकला। खो गई वह उस क्षण में, जब उसने गुरु को धोखा दिया था। आंखें खुली रह गईं और प्राण निकल गए। पर एक चमत्कार हुआ। उसका मुख तो पहले की तरह ही खुला था, पर अब उसमें दुर्गंध नहीं थी।

जैसे ही दुर्गंध विलीन हुई, एक गहन शांति छा गई। सारे भिक्षु इकट्ठा हो गए मछली को देखने। जैतवन अपूर्व सुगंध से भर उठा। भिक्षु उस सुगंध से परिचित थे। यह बुद्धत्व की गंध थी। हम उसे नहीं जान सकते, जब तक गंदगी से भरे हैं। ध्यान हमारे तन-मन की स्वच्छता का नाम है।
विज्ञापन

Recommended

छात्रोंं के करियर को नई ऊंचाइयां देता ये खास प्रोग्राम
Invertis university

छात्रोंं के करियर को नई ऊंचाइयां देता ये खास प्रोग्राम

महालक्ष्मी मंदिर, मुंबई में कराएं दिवाली लक्ष्मी पूजा : 27-अक्टूबर-2019
Astrology Services

महालक्ष्मी मंदिर, मुंबई में कराएं दिवाली लक्ष्मी पूजा : 27-अक्टूबर-2019

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें आस्था समाचार से जुड़ी ब्रेकिंग अपडेट। आस्था जगत की अन्य खबरें जैसे पॉज़िटिव लाइफ़ फैक्ट्स, परामनोविज्ञान समाचार, स्वास्थ्य संबंधी योग समाचार, सभी धर्म और त्योहार आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Festivals

Karwa Chauth 2019: जानिए देश के 21 बड़े शहरों में आज कब दिखेगा करवा चौथ का चांद

जानिए इस करवा चौथ आपके अपने शहर में कितने बजे दिखेगा चांद

17 अक्टूबर 2019

विज्ञापन

मदर टेरेसा को मिला था शांति के लिए नोबेल पुरस्कार, लेकिन कुछ लोगों ने दिया था नकार

17 अक्टूबर 1979 को मदर टेरेसा को शांति का नोबेल मिला था। नोबेल पुरस्कारों का इतिहास काफी रोचक रहा है। साथ ही विवादास्पद भी। ऐसा भी हुआ है जब विश्व का यह सर्वोच्च सम्मान लेने से लोगों ने मना कर दिया।

17 अक्टूबर 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree