चुनावी विश्लेषण: धोया, निचोड़ा और सुखा डाला

यशवंत व्यास Updated Sun, 12 Mar 2017 01:59 PM IST
Election analysis:  Washed, squeezed and dried
कुछ होती है इच्छाएं, कुछ होती है कामनाएं, कुछ कामनाएं और भविष्यवाणियां और बाकी होता है यथार्थ। मोदी की विफलता की कामना से जिन लोगों ने अपनी इच्छाएं, कामनाएं, भविष्यवाणियां बुन ली थीं उन्हें जबर्दस्त धक्का लगा है। वे यथार्थ का आशय अपने निर्मित संदर्भों से नए व्याकरण में उगलना शुरू हो गए हैं। लेकिन आंखे मूंद लेने से तूफान गायब नहीं हो जाता।
यह गहरा राजनीतिक दिशा-संकेत है। इसके परिणाम मध्यमवर्गी राजनीति के दिखावटी वामपंथी आभूषणों की पड़ताल की नई प्रक्रिया शुरू करेंगे। दक्षिण पंथी राजनीति के उदात्त और स्वीकार्य स्वरूप के विस्तार के उपक्रम को रास्ता देंगे। और, भारतीय राजनीति के 'कांग्रेस तत्व' का फिर से परीक्षण होगा। कांग्रेस पार्टी जो झूठ-मूठ ही आजादी के पहले भारतीय जन आंदोलनों की रॉयल्टी उठाती रही है, वस्तुतः उन तत्वों की वंशवादी प्रतिष्ठा के प्रदर्शन मात्र से काम चलाती रही है। वक्त के साथ जनकल्याण के साम्यवादी आभूषणों से उसने मध्यवाम का एक चालू फॉर्मूला भी तैयार कर लिया। इसी फॉर्मूले पर कालांतर में धर्मनिरपेक्षता की राजनीतिक जुमलेबाजी का कारोबार शुरू हुआ। गैर-कांग्रेसवाद का समाजवादी प्रयोग इसके उत्तर ढूंढने का महत्वपूर्ण प्रयास था।

अब साफ है कि दक्षिणपंथ ने समय के साथ उन आभूषणों का अपना सांस्कृतिक उत्तर तैयार कर लिया है और परंपरा के साथ समकालीन आर्थिकी पर नजर डाली है। भयंकर भ्रष्टाचार के संस्‍थागत रूप से उत्पन्न बेचैनी की परख कर ली है। अब छद्म धर्मनिरपेक्षता शब्द मुस्लिम समुदाय की ऐसी तरफदारी के तौर पर देखा जाता है, जिसमें खुद उस संप्रदाय के प्रगतिशीलत्व भी अपना दम घुटता पाते हैं। इस्लामिक आतंकवाद की वैश्विक उपस्थिति ने इस विमर्श को और तीखा कर दिया है। 
आगे पढ़ें

वे खुले हैं और मंदिरों में पूजा करने को पाखंड नहीं कहते

Spotlight

Most Read

rajpath

हिमाचल विस चुनाव: कांगड़ा के सियासी दुर्ग से निकलेगी सत्ता की राह

विधानसभा चुनाव में एक जुमला खूब चला कि शिमला की सत्ता पर काबिज होने का रास्ता कांगड़ा से होकर गुजरता है।

8 नवंबर 2017

Related Videos

सेना में शामिल हुआ खास नस्ल का कुत्ता

भारतीय सेना में शामिल हुआ है खास नस्ल का कुत्ता। इन नस्ल का नाम है चिप्पी पराई। ये कुत्ते काफी वफादार माने जाते हैं इसके साथ ये आजाद रहना पसंद करते हैं।

20 फरवरी 2018

Switch to Amarujala.com App

Get Lightning Fast Experience

Click On Add to Home Screen