73 साल बाद इतिहास रचने का मौका चूक गई टीम

अमर उजाला, दिल्‍ली Updated Mon, 03 Feb 2014 03:52 PM IST
mahrastra lost to chance to lift ranji trophy after 73 years
कर्नाटक ने शानदार प्रदर्शन करते हुए महाराष्ट्र को रणजी ट्रॉफी फाइनल के पांचवें और अंतिम दिन रविवार को सात विकेट से हराकर सातवीं बार घरेलू चैंपियन बनने का गौरव हासिल कर लिया।

हालांकि मैच की पहली पारी में बनाए 515 रन के विशाल स्कोर के बाद कर्नाटक की जीत मैच के चौथे दिन ही तय हो गई थी जब उसने पहली पारी के आधार पर 210 रन की महत्वपूर्ण बढ़त हासिल कर ली थी।

हैदराबाद के उप्पल स्थित राजीव गांधी इंटरनेशनल स्टेडियम में महाराष्ट्र ने अंतिम दिन छह विकेट पर 272 रन से आगे खेलना शुरू किया और उसकी दूसरी पारी 366 रन पर सिमट गई। कर्नाटक को जीत के लिए 157 रन का मामूली लक्ष्य मिला और उसने संभलकर खेलते हुए 40.5 ओवर में तीन विकेट खोकर जीत हासिल कर ली।
आगे पढ़ें

खत्म हुआ 14 साल का खिताबी सूखा

Spotlight

Related Videos

FILM REVIEW: राजपूतों की गौरवगाथा है पद्मावत, रणवीर सिंह ने निभाया अलाउद्दीन ख़िलजी का दमदार रोल

संजय लीला भंसाली की विवादित फिल्म पद्मावत 25 फरवरी को रिलीज हो रही है। लेकिन उससे पहले उन्होंने अपनी फिल्म की स्पेशल स्क्रीनिंग की। आइए आपको बताते हैं कि कैसे रही ये फिल्म...

24 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls