हैप्पी न्यू ईयर!

इंटरनेट डेस्क Updated Mon, 31 Dec 2012 11:46 AM IST
विज्ञापन
ख़बर सुनें
नए साल पर एक आदमी बार में बैठा पैग को दुखी होकर देख रहा था। तभी एक गुंडा उसका पैग गटागट पी गया और बोला, "हैप्पी न्यू ईयर!" आदमी रोने लगा। गुंडाः (शर्मिंदा होकर) रो मत, दूसरा पैग मंगाता हूं। आदमीः आज मेरी जिंदगी का सबसे ख़राब दिन है। देर से नींद खुली, जाम में फंसा, आफिस लेट पहुँचा तो बॉस ने नौकरी से निकाल दिया। बाहर आया तो देखा किसी ने मेरी कार चुरा ली। टैक्सी से घर रवाना हुआ तो पर्स कहीं गिर गया। टैक्सी वाले ने खूब गालियाँ दीं। थप्पड़ मारा। घर में पत्नी पूर्व प्रेमी के साथ थी। यहां शराब में जहर डालकर पीने जा रहा था कि तुमने पी लिया। अब तुम्हारे 'हैप्पी न्यू ईयर' पर क्या बोलूं?"
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00