वोडाफोन ने लगाया 4,000 करोड़ का दांव

अमर उजाला, दिल्ली Updated Wed, 20 Nov 2013 03:22 PM IST
विज्ञापन
vodafone_trai_dot_sepecturm_callrate_baseprice_pchidambaram

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें
टेलीकॉम कंपनी वोडाफोन इंडिया ने अपनी लाइसेंस अवधि को बढ़ाने के लिए डिपार्टमेंट ऑफ टेलीकॉम को चार हजार करोड़ रुपये देने का प्रस्ताव दिया है। कंपनी का यह प्रस्ताव ट्राई द्वारा नए लाइसेंस देने के लिए तय रिजर्व प्राइस की तुलना में 25 फीसदी कम है
विज्ञापन

ये देश के 10 सबसे बड़े दानवीर
कंपनी का कहना है कि यदि उसे दिल्ली, मुंबई और कोलकाता में मौजूदा लाइसेंस की अवधि का विस्तार 20 साल के लिए मिलता है, तो कंपनी चार हजार करोड़ रुपये देने को तैयार है। कंपनी को मिले लाइसेंस की अवधि 2014 में खत्म हो रही है।
RBI ने दिया कारोबारियों को तोहफा
ट्राई की सिफारिशों के अनुसार कंपनी को इन क्षेत्रों में लाइसेंस के लिए नए सिरे से स्पेक्ट्रम लेना होगा। इसके लिए उसे करीब 1,600 करोड़ रुपये चुकाने पड़ सकते हैं।

कंपनी ने वित्त मंत्री पी. चिदंबरम को लिखे पत्र में कहा है कि वह टेलीकॉम नियामक ट्राई द्वारा यूनिफार्म स्पेक्ट्रम यूसेज चार्ज के तहत तीन फीसदी सीमा को सही मानती है।

एक्सिस बैंक पर हो सकता है विदेशी कब्जा!
ऐसे में उच्चाधिकार प्राप्त मंत्रियों के समूह की बैठक में ट्राई के इस प्रस्ताव को स्वीकार करना चाहिए। हालांकि, कंपनी ट्राई द्वारा 1800 मेगाहर्ट्ज के लिए स्पेक्ट्रम की तय रिजर्व प्राइस को ज्यादा मानती है। पत्र में उसने कहा है कि इससे नीलामी में भागीदारी पर असर पड़ सकता है।
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X
  • Downloads

Follow Us