कोयला ब्लॉक नीलामी में बिजली क्षेत्र को तरजीह

राजीव कुमार/नई दिल्ली Updated Mon, 01 Dec 2014 10:59 AM IST
power sector to get preferrence in Coal block auction
ख़बर सुनें
कोयला मंत्रालय ने पहले चरण में कोयला ब्लॉक की होने वाली नीलामी या आवंटन के तहत 59 ब्लॉक बिजली क्षेत्र को देने का फैसला किया है। पहले चरण की नीलामी या आवंटन को लेकर मंत्रालय अगले 15 दिसंबर तक अपनी सभी तैयारियां पूरी कर लेगा।
कोयला मंत्रालय के सूत्रों के मुताबिक पहले चरण की नीलामी और आवंटन के लिए कुल 92 कोयला ब्लॉक का चयन किया गया है। मंत्रालय ने पहले 74 ब्लॉक का चयन किया था। बाद में 18 और ब्लॉक को इसमें शामिल कर दिया गया। इनमें से 42 ब्लॉक में उत्पादन कार्य जारी है।

मंत्रालय सूत्रों के मुताबिक 92 ब्लॉक में से 59 ब्लॉक बिजली क्षेत्र को देने का फैसला किया गया है। इन 59 ब्लॉक में से 25 ब्लॉक की नीलामी होगी जबकि 34 ब्लॉक राज्य और केंद्र की सार्वजनिक कंपनियों (पीएसयू) को आवंटित किए जाएंगे। मंत्रालय सूत्रों के मुताबिक पीएसयू को ब्लॉक आवंटन के दौरान यह देखा जाएगा कि किन राज्यों को बिजली की कितनी अधिक जरूरत है।

मंत्रालय सूत्रों के मुताबिक 92 में से बचे हुए 33 ब्लॉक सीमेंट और स्टील सेक्टर को दिए जाएंगे, लेकिन अभी यह तय नहीं है कि इन ब्लॉक की नीलामी होगी या इन्हें आवंटित किया जाएगा। इस साल सितंबर महीने में सुप्रीम कोर्ट ने 204 कोयला ब्लॉक के आवंटन को रद्द कर दिया था।

इस माह के दूसरे सप्ताह में कोयला सचिव अनिल स्वरूप ने बताया था कि पहले चरण की नीलामी के लिए आगामी 22 दिसंबर को रिक्वेस्ट फॉर प्रपोजल (आरएफपी) जारी कर दिया जाएगा। 11 फरवरी तक तकनीक जांच पूरी हो जाएगी और 16 मार्च तक पत्र जारी कर दिए जाएंगे।

अनिल स्वरूप ने बताया था कि पहले चरण के लिए चयन किए गए 74 ब्लॉक में से पहले से उत्पादन कर रहे 42 ब्लॉक की उत्पादन क्षमता सालाना 9 करोड़ टन है, वहीं उत्पादन के लिए बिल्कुल तैयार 32 ब्लॉक की उत्पादन क्षमता सालाना 12 करोड़ टन है। उन्होंने यह भी कहा था कि कुछ और ब्लॉक जो उत्पादन के लिए लगभग तैयार हैं, को पहले चरण के आवंटन या नीलामी में शामिल किया जा सकता है।

RELATED

Spotlight

Related Videos

#GreaterNoida: रात में गिरी ‘मौत’ की इमारतें, डराने वाली VIDEO आया सामने

ग्रेटर नोएडा वेस्ट के शाहबेरी में मंगलवार रात एक चार मंजिला और एक छह मंजिला निर्माणाधीन इमारत धराशाही हो गई।

18 जुलाई 2018

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen