खुदरा कारोबार के लिए अलग नियामक नहीं बनेगा

नई दिल्ली/एजेंसी Updated Wed, 19 Dec 2012 09:54 PM IST
no plans to constitute a retail regulatory authority says govt
रिटेल कारोबार के नियमन के लिए अलग से खुदरा नियामक निकाय (आरआरए) के गठन की सरकार की कोई योजना नहीं है। यह जानकारी वाणिज्य एवं उद्योग राज्य मंत्री एस जगतरक्षकन ने राज्यसभा में एक सवाल के लिखित जवाब में दी है। उन्होंने बताया कि इस बारे में विभाग से संबंधित संसदीय समिति ने रिटेल सेक्टर में विदेशी और घरेलू निवेश पर अपनी 19वीं रिपोर्ट में आरआरए के गठन का सुझाव दिया था, ताकि कारोबार में गैरवाजिब तरीके अपनाने जैसी समस्याओं और अन्य मामलों से निपटा जा सके। गौरतलब है कि मल्टी ब्रांड रिटेल में 51 फीसदी प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) को मंजूरी दी जा चुकी है, जबकि सिंगल ब्रांड खुदरा कारोबार में एफडीआई की सीमा को बढ़ा कर शत-प्रतिशत कर दिया गया है।

Spotlight

Related Videos

राजधानी में बेखौफ बदमाश, दिनदहाड़े घर में घुसकर महिला का कत्ल

यूपी में बदमाशों का कहर जारी है। ग्रामीण क्षेत्रों को तो छोड़ ही दीजिए, राजधानी में भी लोग सुरक्षित नहीं हैं। शनिवार दोपहर बदमाशों ने लखनऊ में हार्डवेयर कारोबारी की पत्नी की दिनदहाड़े घर में घुस कर हत्या कर दी।

21 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper