आगरा समिट में द्विपक्षीय समझौतों पर जोर

आगरा/अमर उजाला ब्यूरो Updated Tue, 29 Jan 2013 12:10 AM IST
विज्ञापन
focused on bilateral agreements in agra summit

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें
वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री आनंद शर्मा ने कहा कि 21वीं सदी का भविष्य विकसित और विकासशील दुनिया के बीच रचनात्मक भागीदारी से बनेगा। सीआईआई ग्लोबल पार्टनशिप समिट : 2013 के दूसरे दिन सोमवार को आनंद शर्मा ने संयुक्त अरब अमीरात, दक्षिण कोरिया और स्लोवेनिया के मंत्रियों के साथ मुलाकात कर निवेश से जुड़े मुद्दों पर चर्चा की। शर्मा ने यूएई को खासतौर पर भारत के इंफ्रास्ट्रक्चर क्षेत्र में निवेश करने का न्योता दिया है। दोनों देशों के बीच निवेश पर एक उच्च स्तरीय टास्क फोर्स बनाने पर भी सहमति जताई है।
विज्ञापन

 
दुनिया के विभिन्न देशों से आए निवेशकों को भरोसा दिलाते हुए उद्योग मंत्री ने कहा कि सरकार ने हाल में प्रधानमंत्री की अध्यक्षता में इंफ्रास्ट्रक्चर पर एक कैबिनेट समिति का गठन किया है जो न सिर्फ बड़ी परियोजनाओं को आगे बढ़ाएगी बल्कि मंजूरी की वजह से होने वाली देरी को भी कम करने में मदद करेगी। उन्होंने बढ़ते मध्यवर्ग, कम खर्च में उत्पादन और एक करोड़ बीस लाख से ज्यादा इंजीनियरों व डॉक्टरों को भारतीय अर्थव्यवस्थाओं की बड़ी ताकत बताया।


समिट के दौरान संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) की विदेश व्यापार मंत्री शेखा लुब्ना बिंट खालिद अल कासिमी के साथ द्विपक्षीय व्यापारिक मुद्दों पर चर्चा की। माना जा रहा है कि बैठक में अमीरात की एतिहाद एयरलाइंस द्वारा जेट एयरवेज में हिस्सेदारी खरीदने के मुद्दे पर भी बात हुई। समिट के दौरान शर्मा ने पत्रकारों को बताया कि एतिहाद के प्रतिनिधि आगामी 31 जनवरी को उनसे मिलेंगे। शर्मा के इस बयान के बाद जेट-एतिहाद सौदा पक्का माना जा रहा है।

पिछले दिनों नरेश गोयल की जेट एयरवेज में बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज को एतिहाद के साथ हिस्सेदारी बेचने को लेकर चल रही बातचीत की जानकारी दी थी। सूत्रों का कहना है कि एतिहाद करीब 33 करोड़ डॉलर में जेट की 24 फीसदी हिस्सेदारी खरीद सकती है।

गत सितंबर में भारत सरकार की ओर से एविएशन में भी 49 फीसदी विदेशी निवेश की छूट दिए जाने के बाद यह इस क्षेत्र का प्रमुख सौदा होगा। जेट और एतिहाद के बीच पहले ही कोड शेयरिंग समझौता चल रहा है और इस सौदे के बाद सरकारी एयरलाइंस एयर इंडिया के मुकाबले जेट की स्थिति खासी मजबूत हो जाएगी।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X