विज्ञापन
विज्ञापन

भले ही दवा कड़वी हो मगर इलाज जरूरी: यशवंत सिन्हा

नई दिल्ली Updated Sun, 24 Feb 2013 12:05 AM IST
first priority is to control inflation said yashwant sinha
ख़बर सुनें
अगर मैं वित्त मंत्री होता तो मौजूदा स्थितियों में कैसा बजट बनाता? यह सवाल ऐसा है जैसे आप किसी मरीज को गलत डॉक्टर को दिखा कर उसे मरणासन्न बना दें और फिर पूछें कि अब इसे कैसे ठीक करें? लेकिन पांच बजट पेश करने वाले अकेले गैर-कांग्रेसी व्यक्ति होने के नाते मैं कह सकता हूं कि हमने गंभीर चुनौतियों का दृढ़ इच्छा शक्ति से सामना किया। इस समय अर्र्थव्यवस्था को सही इलाज की जरूरत है। भले ही दवा कड़वी क्यों न हो।
विज्ञापन
आज अर्थव्यवस्था की समस्याएं सरकारी खर्च बेहिसाब बढ़ने के कारण हैं। इसकी शुरुआत 2008 से हुई। उस साल भी चुनाव के पहले का अंतिम बजट था और इस साल भी ऐसा ही है। लेकिन मैं मौजूदा हालात में कठोर कदमों के पक्ष में हूं। मेरी पहली कड़वी दवा सरकारी खर्च में कटौती होगी। विदेशी मुद्रा भंडार को छोड़ आज की स्थिति 1991 से भी बदतर है। जरूरत है जीरो बजटिंग के सिद्धांत पर काम करने की। मनरेगा सहित तमाम योजनाओं की समीक्षा कर फिजूलखर्च रोकना होगा।

मैं खाद्य सुरक्षा के नाम पर खर्च बढ़ाने के खिलाफ हूं। अजीब विरोधाभास है। हम 8 करोड़ टन अनाज के भंडार पर बैठे हैं। लेकिन खाद्य वस्तुओं की महंगाई से आम आदमी त्रस्त है। मुफ्त अनाज बांटने से कोई देश तरक्की नहीं कर सकता। महंगाई की मार से आम आदमी को बचाने केलिए आपूर्ति बढ़ाना जरूरी है।

महंगाई पर काबू पाना पहली प्राथमिकता है। इससे ब्याज दरें घटेंगी और निवेश बढ़ेगा। जिससे रोजगार के अवसर पैदा होंगे। आम आदमी के घर के सपने को हमने पूरा किया था। कर छूट प्रावधान किया था। लेकिन होम लोन के ब्याज पर आयकर छूट अब भी डेढ़ लाख रुपये ही है। इसे बढ़ाने की जरूरत है।

आय कर छूट सीमा अब बढ़कर तीन लाख रुपये होनी चाहिए। आय कर अधिनियम की धारा 80 सी के तहत बचत और निवेश सीमा भी बढ़ाकर मैं तीन लाख रुपये करना चाहूंगा। असल में नौ से दस फीसदी की जीडीपी विकास दर के लिए हमें 37 फीसदी की बचत दर चाहिए। जो अभी 29 फीसदी है। बचत को प्रोत्साहन जरूरी है। इसलिए कर छूट निवेश सीमा को बढ़ाना जरूरी है। ‘सुपर रिच’ पर अलग कर लगाने के पक्ष में मैं नहीं हूं।

कृषि में किसान को जब तक पैसा और पानी नहीं मिलेगा, उसकी हालत नहीं सुधरेगी। मैंने किसान क्रेडिट कार्ड की शुरुआत की। मैं चाहूंगा कि प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना की तर्ज पर प्रधानमंत्री सिंचाई योजना शुरू हो। नदियों को जोड़ने की योजना कृषि में क्रांतिकारी बदलाव ला सकती है। भंडारण में भी हमारी सोच है कि इसे विकेंद्रित किया जाए। पंचायत स्तर पर भंडार हों। प्याज जैसी फसलों केलिए भंडारण की विशेष व्यवस्था भी हो।

सबसे पहले महंगाई पर काबू करने की जरूरत है। फिर सरकारी निवेश के जरिये बड़ी ढांचागत परियोजनाओं पर काम शुरू किया जाए और यह निवेश निजी निवेश को प्रोत्साहित करेगा तो अर्थव्यवस्था पटरी पर आ जाएगी। इस तरह के हालत का सामना हमने 1998 में भी किया था।

यूपीए ने किया बंटाधार
यूपीए सरकार ने जिन क्षेत्रों को बर्बाद किया, उनमें ऊर्जा प्रमुख है। कोयला और ऊर्जा मंत्रालय आपस में झगड़ रहे हैं। बिजली कंपनियां को हजारों करोड़ रुपये का नुकसान हो रहा है। ऊर्जा क्षेत्र की हालत दुरुस्त करने पर तुरंत काम करने की जरूरत है। अर्थव्यवस्था में घरेलू और विदेशी निवेशकों के भरोसे का संकट भी है। इसे लौटाने के लिए कड़ी मशक्कत करनी होगी।

- हरवीर सिंह से बातचीत पर आधारित
विज्ञापन

Recommended

OPPO के Big Diwali Big Offers से होगी आपकी दिवाली खूबसूरत और रौशन
Oppo Reno2

OPPO के Big Diwali Big Offers से होगी आपकी दिवाली खूबसूरत और रौशन

कराएं दिवाली की रात लक्ष्मी कुबेर यज्ञ, होगी अपार धन, समृद्धि  व्  सर्वांगीण कल्याण  की प्राप्ति : 27-अक्टूबर-2019
Astrology Services

कराएं दिवाली की रात लक्ष्मी कुबेर यज्ञ, होगी अपार धन, समृद्धि व् सर्वांगीण कल्याण की प्राप्ति : 27-अक्टूबर-2019

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Crime Archives

यूपी: रामलीला मंच पर डांस करने को लेकर विवाद, गोलीबारी में किशोर घायल

उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ जिले में रामलीला में डांस को लेकर लोगों में जमकर मारपीट हो गई। झगड़ा इतना बढ़ गया कि इस दौरान रामलीला मंच पर तोड़फोड़ कर दी और फायरिंग भी हुई। फायरिंग करते समय छर्रा लगने से एक किशोर घायल हो गया...

15 अक्टूबर 2019

विज्ञापन

महात्मा गांधी के 150वें जयंती वर्ष के मौके पर पीएम मोदी के घर पहुंचे शाहरुख-आमिर समेत कई सितारे

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने महात्मा गांधी के 150वें जयंती वर्ष के खास मौके पर कला और सिनेमा से जुड़ी कई हस्तियों से अपने आवास पर मुलाकात की। इस खास कार्यक्रम में शाहरुख खान, आमिर खान, कंगना रनौत समेत कई सेलेब्स नजर आए।

19 अक्टूबर 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree