किसान कर्ज घोटाले में वसूली होगी तेज

अमर उजाला, दिल्ली Updated Mon, 25 Nov 2013 11:56 AM IST
विज्ञापन
farmer loan scandal_rbi_cag_coopreativebank

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

ख़बर सुनें
किसान कर्ज माफी घोटाले में अपात्र लोगों के माफ हुए कर्ज की वसूली अब तेजी से होगी। भारतीय रिजर्व बैंक ने इस संबंध में निर्देश दिया है, जिन लोगों के कर्ज को गलत तरीके से माफ किया गया है, उनसे कर्ज वसूली में तेजी लाई जाए।
विज्ञापन

इस संबंध में रिजर्व बैंक ने शहरी कोऑपरेटिव बैंकों के ढुलमुल रवैये पर भी ऐतराज जताया है। रिजर्व बैंक के अनुसार कोऑपरेटिव बैंक दिसंबर तक रिकवरी प्रक्रिया को पूरा करें।
कर्ज वापस न करने वालो की अब खैर नहीं!
रिजर्व बैंक द्वारा शहरी कोऑपरेटिव बैंकों को दिए गए निर्देश में कहा गया है कि यह देखा जा रहा है, कि अपात्र लोगों की पहचान होने के बाद भी अभी तक वसूली की राशि को रिजर्व बैंक के पास जमा नहीं किया गया है।

इस मामले में वसूली की प्रक्रिया काफी धीमी है। इसमें तेजी लाते हुए बैंक 20 दिसंबर तक समूची प्रक्रिया को पूरा कर वसूली की राशि रिजर्व बैंक के पास जमा करें। शहरी कोऑपरेटिव बैंकों की तरह व्यावसायिक बैंकों और क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों को भी रिकवरी में तेजी लाने को कहा गया है।

घर खरीदनें से पहले रखें इन 9 जरूरी बातों का ध्यान
2008 में करीब 4.29 करोड़ किसानों के लिए किसान कर्ज माफी योजना लागू की गई थी। इसकी जांच में भारत के नियंत्रक एवं महालेखापरीक्षक (कैग) ने पाया था कि कई सारे मामलों में पात्र किसानों को कर्ज माफी का लाभ ही नहीं मिला। इसके बदले में बैंक अधिकारियों और लाभार्थियों के सांठगांठ से ऐसे लोगों के कर्ज माफ कर दिए गए जिन्होंने वाहन, कारोबार, दुकान, जमीन खरीदने के लिए कर्ज लिया हुआ था।
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
  • Downloads

Follow Us