विज्ञापन
विज्ञापन

हैंडीक्राफ्ट निर्यातकों ने ई कॉमर्स कंपनियों से मिलाया हाथ

एजेंसी Updated Wed, 18 Feb 2015 02:14 PM IST
E-com boom:Handicraft exporters join hands to tap domestic mkt 
ख़बर सुनें
देश में बढ़ते ई-कॉमर्स में बड़ी हिस्सेदारी हासिल करने की चाहत लिए हैंडीक्राफ्ट निर्यातक घरेलू बाजार में कारोबारी संभावनाओं का दोहन करने के लिए बड़े पोर्टलों के साथ हाथ मिला रहे हैं।
विज्ञापन
एक्सपोर्ट प्रमोशन काउंसिल फॉर हैंडीक्राफ्टस (इपीसीएच) के वाइस चेयरमैन राजेश कुमार जैन ने बताया कि भारत में हैंडीक्राफ्ट उत्पादों की बड़े पैमाने पर मांग है और ई- कॉमर्स पोर्टल इन उपभोक्ताओं तक पहुंचने के लिए बेहतर माध्यम हैं। उन्होंने कहा कि ऐसे समय में जब वैश्विक अर्थव्यवस्था की स्थिति बहुत अच्छी नहीं है, घरेलू बाजार निर्यातकों के लिए बड़े पैमाने पर अवसर उपलब्ध करा रहा है।

उन्होंने कहा कि फ्लिपकार्ट और स्नैपडील अच्छे प्लेटफार्म हैं, जहां हम भारत में अपने उत्पाद बेच सकते हैं। भारत का हैंडीक्राफ्ट निर्यात जनवरी में सालाना आधार पर 10 फीसदी गिर कर 12 करोड़ डॉलर पर पहुंच गया है। मौजूदा समय में भारत चीन के साथ एशिया पैसिफिक बाजार में सबसे तेजी से बढ़ने वाला ई-कॉमर्स बाजार है।

इंटरनेट का प्रसार बढ़ने, यूजर्स द्वारा बड़ी संख्या में स्मार्टफोन अपनाने और डेटा की दरों में कमी ने भारत में खरीदारी के तौर तरीके को बड़े पैमाने पर बदल दिया है। इसके अलावा बड़ी आबादी और इंटरनेट यूजर के बढ़ते आधार ने भी ई कॉमर्स की ग्रोथ बढ़ाने में मदद की है। अनुमान के मुताबिक भारत में ई कॉमर्स सेक्टर का बाजार सालाना लगभग 5 अरब डॉलर का है। जैन का कहना है कि हैंडीक्राफ्ट सेक्टर में बड़े पैमाने पर श्रम की जरूरत होती है। ऐसे में ऑनलाइन प्लेटफार्म नौकरियों के अवसर पैदा करने में भी मदद करेंगे।

इन प्लेटफार्मों पर हाउस वेयर, होम टेक्सटाइल, फर्नीचर, ग्लासवेयर, बांस से बनी वस्तुएं, फैशन ज्वेलरी और लैंप एंड लाइटिंग कैटेगरी की वस्तुएं इन प्लेटफार्मो पर बेची जा सकती हैँ। विश्लेषकों का कहना है कि भारत में ऑनलाइन खरीदारी का तेजी से विस्तार हो रहा है और विस्तार की प्रक्रिया अभी खत्म नहीं हुई है।

आगामी बजट से काउंसिल की उम्मीदों के बारे में जैन ने कहा कि सरकार को हैँडीक्राफ्ट सेक्टर की ग्रोथ को घरेलू और वैश्विक बाजारों में भी बढ़ाने के लिए कई कदम उठाने होंगे। उन्होंने कहा कि हम वैश्विक बाजार मं अपनी हिस्सेदारी दोगुना करने के लक्ष्य पर काम रहे हैं। मौजूदा समय में वैश्विक बाजार में हमारी हिस्सेदारी 3 फीसदी है और इसे दोगुना करने के लिए हमें कौशल विकास की मदद लेने के साथ उत्पादों की गुणवत्ता बेहतर करना होगी अैर नए बाजार खोजने होंगे।
विज्ञापन

Recommended

पीरियड्स है करोड़ों लड़कियों के स्कूल छोड़ने का कारण
Niine

पीरियड्स है करोड़ों लड़कियों के स्कूल छोड़ने का कारण

महालक्ष्मी मंदिर, मुंबई में कराएं दिवाली लक्ष्मी पूजा और घर बैठें पाएं प्रसाद : 27-अक्टूबर-2019
Astrology Services

महालक्ष्मी मंदिर, मुंबई में कराएं दिवाली लक्ष्मी पूजा और घर बैठें पाएं प्रसाद : 27-अक्टूबर-2019

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Crime Archives

यूपी: रामलीला मंच पर डांस करने को लेकर विवाद, गोलीबारी में किशोर घायल

उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ जिले में रामलीला में डांस को लेकर लोगों में जमकर मारपीट हो गई। झगड़ा इतना बढ़ गया कि इस दौरान रामलीला मंच पर तोड़फोड़ कर दी और फायरिंग भी हुई। फायरिंग करते समय छर्रा लगने से एक किशोर घायल हो गया...

15 अक्टूबर 2019

विज्ञापन

Haryana Election: हरियाणा में किसकी बनेगी सरकार, बबीता फोगाट और दुष्यंत चौटाला ने जताया जीत का भरोसा

हरियाणा में मुकाबला बेहद दिलचस्प है। पूर्ण बहुमत किसी पार्टी को मिलता नहीं दिख रहा। भाजपा प्रत्याशी बबीता फोगाट ने जीत का भरोसा जताया है। तो वहीं जजपा अध्यक्ष दुष्यंत चौटाला ने कहा कि सत्ता की चाबी उनके हाथ में होगी।

24 अक्टूबर 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election