विज्ञापन

रुपये में कमजोरी से सेंसेक्स 17 हजार से नीचे

Market Updated Fri, 04 May 2012 12:00 PM IST
stock-market-crash
ख़बर सुनें
रुपये की लगातार गिरावट ओर मारीशस के साथ दोहरी कराधान संधि की जल्द समीक्षा करने के सरकारी बयान से आशंकित विदेशी संस्थागत निवेशकों की भारी बिकवाली ने घरेलू शेयर बाजार को 17 हजार के मनोवैज्ञानिक स्तर से नीचे ला खड़ा किया। बीएसई का सेंसेक्स 320 अंक का गोता लगाते हुए 16,831.08 अंक पर और निफ्टी 101.55 अंक लुढ़क कर 5,086.85 अंक पर बंद हुआ।
विज्ञापन
डॉलर के मुकाबले रुपया भी साढे चार महीने के न्यूनतम स्तर 53.72 रुपये प्रति डॉलर तक लुढ़का दूसरी ओर वित्त राज्य मंत्री एसएस पलानिमनिक्कम ने बाजार में आ रहे काले धन को रोकने के लिए मारीशस के साथ दोहरे कराधान से बचाव की संधि की समीक्षा की बात संसद में कही।

इन दोनों ही खबरों ने बाजार में तूफान मचाया और विदेशी निवेशक बिकवाली पर उतर आए। नतीजतन सेंसक्स में शामिल महज पांच कंपनियां ही मुनाफा कमा सकीं, बाकी सभी ने नुकसान उठाया।

बीएसई का मिडकैप 133.95 अंक गिरकर 6,100.80 अंक पर और स्मॉलकैप 121.70 अंक नीचे 6,588.26 अंक पर रहा। रिलायंस इंडस्ट्रीज पर सरकार की ओर से जुमार्ना राशि बढ़ाए जाने की खबर से तेल व गैस कंपनियों के शेयरों में भारी गिरावट दर्ज हुई।

सेंसेक्स करीब 100 अंकों की गिरावट लेकर 17,066.84 अंक पर खुला। बीच कारोबार में 17,121.37 अंक के ऊपरी और 16,776.72 के निचले में रहकर अंत में पिछले कारोबारी दिवस के 17,151.19 अंक के मुकाबले 1.87 प्रतिशत नीचे 16,831.08 अंक पर बंद हुआ। जनवरी 23 के बाद से सेंसेक्स का यह सबसे निचला स्तर रहा।

निफ्टी 20 अंक से ज्यादा की गिरावट के साथ 5,166.65 पर खुलने के साथ बीच कारोबार में 5177.20 के ऊपरी और 5,070.60 अंक के निचले स्तर में रहकर 101.55 अंक घटकर 5,086.85 अंक पर सिमटा। सेंसेक्स में दवा कंपनी सिप्ला के शेयर 2.46 प्रतिशत के साथ सबसे ज्यादा मुनाफे में रहे, जबकि भेल ने सबसे अधिक 4.93 प्रतिशत का घाटा उठाया

बीएसई में कुल 2,914 कंपनियों के शेयरों में कारोबार हुआ। इसमें से 744 बढत में और 2070 नुक सान में रही। शेष 100 में कोई बदलाव नहीं हुआ। सेंसेक्स में नुकसान उठाने वालों में भेल के अलावा हीरो मोटोकॉर्प, एसबीआई, एलएंडटी, बजाज ऑटो, टाटा स्टील और स्टरलाइट के शेयर तीन से पांच प्रतिशत की गिरावट पर रहे।

इनके साथ ही डीएलएफ, एचडीएफसी बैंक, आईसीआईसीआई बैंक, महिंद्रा, हिंडाल्को, कोल इंडिया, जिदंल स्टील के शेयर भी दो से तीन फीसदी नीचे रहे। टीसीएसए, टाटा पावर, मारुति, एचडीएफसी, एनटीपीसी, गेल और ओएनजीसी ने भी एक से दो फीसदी का घाटा उठाया।

लाभ कमाने वालों में सिप्ला के साथ ही विप्रो ने 0.63 प्रतिशत, हिन्दुस्तान यूनि 0.30, सनफार्मा 0.15 और टाटा मोटर्स ने 0.02 प्रतिशत का मुनाफा कमाया।
विज्ञापन

Recommended

आईआईटी से कम नहीं एलपीयू, जानिए कैसे
LPU

आईआईटी से कम नहीं एलपीयू, जानिए कैसे

ढाई साल बाद शनि बदलेंगे अपनी राशि , कुदृष्टि से बचने के लिए शनि शिंगणापुर मंदिर में कराएं तेल अभिषेक
Astrology Services

ढाई साल बाद शनि बदलेंगे अपनी राशि , कुदृष्टि से बचने के लिए शनि शिंगणापुर मंदिर में कराएं तेल अभिषेक

विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

City and States Archives

विरोध में उतरे जामिया मिल्लिया इस्लामिया के छात्र, वीसी दफ्तर का घेराव कर किया प्रदर्शन

जामिया मिल्लिया इस्लामिया के छात्र-छात्राओं ने सड़क पर उतरकर विरोध प्रदर्शन किया और वीसी नजमा अख्तर के दफ्तर का घेराव कर नारेबाजी की। 

13 जनवरी 2020

विज्ञापन

कोरोनावायरस को लेकर भारत-नेपाल सीमा पर अलर्ट जारी, हेल्थ कैंप लगाकर की जा रही है जांच

कोरोनावायरस को लेकर भारत-नेपाल बॉर्डर को हाई अलर्ट पर रखा गया है। यहां हेल्थ कैंप भी लगाए गए हैं ताकि किसी भी तरह कोरोनावायरस को फैलने से रोका जा सके।

28 जनवरी 2020

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election
  • Downloads

Follow Us