विज्ञापन
विज्ञापन

जुलाई से सितंबर तक क्यों मौज करते हैं हार्ट पेशेंट?

जौनपुर/इंटरनेट डेस्क Updated Thu, 13 Sep 2012 03:17 PM IST
why heart patient enjoy from july to september
ख़बर सुनें
मौसम में आद्रता और प्रदूषण कम होने के कारण जुलाई से सितंबर तक का समय हृदय रोगियों के लिए अनुकूल होता है। इस तीन माह में हृदयाघात की संभावना भी कम होती है।
विज्ञापन
विज्ञापन
उक्त जानकारी कृष्णा हार्ट केयर एवं मैटर्निटी सेंटर में रविवार को आयोजित गोष्ठी में वरिष्ठ हृदय रोग विशेषज्ञ डॉ. एचडी सिंह ने दी। डॉ. सिंह ने बताया कि हिन्दुस्तान में 45 वर्ष से अधिक उम्र के मरीजों की मृत्यु दर का 50 प्रतिशत हिस्सा सिर्फ हृदय रोगियों का होता है।

जुलाई, अगस्त और सितंबर में हृदयाघात की घटनाएं करीब 50 प्रतिशत घट जाती हैं। इन दिनों मौसम में आद्रता, आक्सीजन की मात्रा अधिक और वातावरण प्रदूषण, वायुमंडलीय दबाव कम होता है। शरीर में प्लेजर हार्मोन अधिक बनता है। जो हृदय रोगियों के अनुकूल रहता है। इन महीनों में पड़ने वाले पर्व पर उपवास स्वास्थ्य के लिए बेहतर होते हैं। उन्होंने बताया कि नियमित व्यायाम, मोटापा नियंत्रण, धुम्रपान और मदिरापान से दूर रह कर हृदय की बीमारियों से बचा जा सकता है।

Recommended

देखिये लोकसभा चुनाव 2019 के LIVE परिणाम विस्तार से
Election 2019

देखिये लोकसभा चुनाव 2019 के LIVE परिणाम विस्तार से

जानिए अपने शहर के लाइव नतीजों की पल-पल की खबर
Election 2019

जानिए अपने शहर के लाइव नतीजों की पल-पल की खबर

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

City and States Archives

अस्पताल में मरीज ने तोड़ा दम, इमरजेंसी गेट पर शव रखकर हंगामा

जिला अस्पताल में आयुष्मान वार्ड में उपचार करा रहे मरीज की मौत हो गई। परिजन इलाज में लापरवाही का आरोप लगाते हुए हंगामा करने लगे। कुछ देर में इमरजेंसी गेट पर शव रखकर रास्ता बंद कर दिया।

21 मई 2019

विज्ञापन

मोदी ने सिर्फ गरीबों का विकास किया जबकि सपा बसपा जाति के नाम पर लड़ते रहे: चंद्रमोहन

बीजेपी ने जो नारा दिया था अबकी बार 300 के पार वो अब सही साबित होता नजर आ रहा है। बीजेपी नेता और कार्यकर्ताओं के हौसले बुलंद हैं। भाजपा प्रवक्ता चंद्रमोहन से अमर उजाला ने खास बातचीत की है। उन्होंने कहा कि पीएम मोदी ने गरीबों का विकास किया है।

23 मई 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election