विज्ञापन
विज्ञापन

ऐसे बर्तन में पिया गर्मागर्म सूप तो होगी परेशानी

नई दिल्ली/इंटरनेट डेस्क। Updated Fri, 25 Jan 2013 11:31 AM IST
high risk of health when u eat hot meal on melamine plates
ख़बर सुनें
क्या आपको भी गर्मागर्म नूडल और सूप प्लास्टिक के बाउल में खाना पसंद हैं। क्यों न हो, आजकल घर और बाहर प्लास्टिक यानी मेलामाइन के बर्तन काफी लोकप्रिय हैं। छटपट साफ होने वाले ये बर्तन घर और पिकनिक के लिए भी सुटेबल होते हैं। लेकिन अगर रोज ही आप गर्मागर्म खाना प्लास्टिक के बर्तनों में खा रहे हैं तो संभल जाइए। मेलामाइन क्राकरी में गर्म खाना खाने से आपकी सेहत के लिए खतरे की घंटी बज रही है।
विज्ञापन
डेली मेल के अनुसार रिसर्चरों ने चेताया है कि मेलामाइन के बर्तनों में गर्म खाना खाने से किडनी में पथरी तक हो सकती है। इनका कहना है कि ज्यादा तापमान के संपर्क में आने से प्लास्टिक के बर्तन में मौजूद मेलामाइन बढ़ जाता है। ये मेलामाइन खाने में घुल कर आपके पेट में पहुंचेगा और आपकी किडनी में पथरी का रिस्क बढ़ जाएगा।

ताइवान में काओशिउंग यूनिवर्सिटी के अध्ययनकर्ताओं ने अपनी रिसर्च के लिए गर्मागर्म नूडल खाने वाले समूहों पर टेस्ट किया। एक समूह को गर्मागर्म नूडल खाने के लिए प्लास्टिक यानी मेलामाइन की प्लेट्स दी गई जबकि दूसरे समूह को भोजन के लिए कैरेमिक के प्लेट्स दिए गए।

भोजन से पहले दोनों समूहों के यूरिन सैंपल लिए गए और भोजन के बाद भी हर दो घंटे पर सैंपल लिए गए। तीन हफ्ते बाद फिर इन समूहों को ये नूडल खाने के लिए दिए गए लेकिन इस बार बर्तन एक्सचेंज कर दिए गए। इसके बाद फिर यूरिन के सैंपल लिए गए।

शोध में पाया गया कि जिन लोगों ने मेलामाइन के बाउल में नूडल खाए उनके यूरिन में मेलामाइन का लेवल 8.35 माइक्रोग्राम था। जबकि कैरेमिक बाउल में खाने वाले समूह के लोगों के यूरिन में  ये लेवल महज 1.3 माइक्रोग्राम था।

रिसर्च करने वाले समूह के अध्यक्ष चिया फैंग वू ने कहा कि गर्मागर्म खाना डालने पर मेलामाइन के बर्तनों से मेलामाइन डिस्चार्ज होने लगता है जो खाने के जरिए शरीर में पहुंच जाता है। इससे किडनी में पथरी का रिस्क बढ़ जाता है। यही नहीं अगर मेलामाइन की मात्रा ज्यादा हो जाए तो किडनी डैमेज भी हो सकती है।
विज्ञापन

Recommended

प्रथम श्रेणी के दुग्ध उत्पादों के लिए प्रतिबद्ध है धौलपुर फ्रेश
Dholpur Fresh

प्रथम श्रेणी के दुग्ध उत्पादों के लिए प्रतिबद्ध है धौलपुर फ्रेश

ढाई साल बाद शनि बदलेंगे अपनी राशि , कुदृष्टि से बचने के लिए शनि शिंगणापुर मंदिर में कराएं तेल अभिषेक : 14-दिसंबर-2019
Astrology Services

ढाई साल बाद शनि बदलेंगे अपनी राशि , कुदृष्टि से बचने के लिए शनि शिंगणापुर मंदिर में कराएं तेल अभिषेक : 14-दिसंबर-2019

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

City and States Archives

हिमाचल के सेब बगीचों पर वूली एफिड की मार, विशेषज्ञों ने दी ये सलाह

हिमाचल के सेब उत्पादित क्षेत्रों में वूली एफिड की मार पड़ी है। इससे बागवान चिंतित हो गए हैं।

28 नवंबर 2019

विज्ञापन

'मरदानी 2' पब्लिक रिव्यू: जनता से जानें कैसी है 'मरदानी 2'

रानी मुखर्जी की फिल्म 'मरदानी 2' रिलीज हो गई है। फिल्म को देखने के बाद जनता का क्या कहना है देखिए रिपोर्ट

13 दिसंबर 2019

आज का मुद्दा
View more polls
Safalta

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election
  • Downloads

Follow Us