राम मंदिर को लेकर श्री श्री रवि शंकर के आड़े आ रही हैं चुनौतियां

शशिधर पाठक/ अमर उजाला, नई दिल्ली Updated Wed, 15 Nov 2017 04:34 AM IST
Ram Mandir issue: Sri Sri Ravi Shankar is facing challenges to meet Muslim clerics resolve
आध्यात्मिक गुरू श्री श्री रविशंकर
अयोध्या में राम मंदिर निर्माण और राम मंदिर-बाबरी मस्जिद विवाद के पटाक्षेप में लगे आध्यात्मिक गुरू श्री श्री रविशंकर के आड़े तमाम चुनौतियां हैं। राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ, विश्व हिन्दू परिषद और राम मंदिर न्यास के पदाधिकारी भी अभी श्री श्री की मुहिम पर निगाह गड़ाए बैठे हैं। राम मंदिर निर्माण के लिए बाबरी मस्जिद(विवादित ढांचा) विध्वंस में आरोपी बनाए गए सूत्र के अनुसार अभी सबकुछ भविष्य की गर्त में है। 

डा. राम विलास वेदांती का भी कहना है कि राम मंदिर निर्माण की दिशा में कोई भी आम सहमति बनने की स्थिति आने से पहले आयोध्या तथा राम मंदिर आंदोलन से जुड़े साधु संतों को विश्वास में लेना होगा। बजरंग दल के संस्थापक अध्यक्ष और राज्यसभा सांसद विनय कटियार ने कहा कि मुकदमा अदालत में चल रहा है। अदालत से जो भी निर्णय आएगा, उसका मान रखेंगे। इसलिए सभी पक्षकारों या लोगों को चाहिए कि वह अदालत में शपथ-पत्र के साथ अपनी बात रखें। 

पढ़ें- श्रीश्री से मिलकर बोले UP शिया वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष - सुलझ सकता है राम मंदिर मामला

विनय कटियार ने कहा कि कोई भी समझौता तीन शर्तों के साथ ही हो सकता है। पहला राम मंदिर अयोध्या में अपने स्थान पर बनेगा। दूसरी शर्त यह है कि राम मंदिर की जमीन बंटने नहीं देंगे। राम मंदिर की भूमि का टुकड़ा होना हमें स्वीकार्य नहीं है। श्री श्री के प्रस्ताव, प्रयास के बारे में पूछे जाने पर कटियार ने कहा कि उनके प्रयास का स्वागत है, लेकिन निर्णय तो अदालत से आना है। जब उच्चतम न्यायालय अपना फैसला सुनाएगा तब देखेंगे।

विश्व हिन्दू परिषद के राष्ट्रीय महासचिव ने कहा कि श्री श्री रविशंकर या कोई भी देश का नागरिक राष्ट्र से जुड़ी समस्याओं में अपना योगदान दे सकता है। उसका प्रयास हमेशा स्वागत योग्य है। रहा सवाल मंदिर निर्माण का तो वह होगा। श्री श्री के प्रयास के बारे में पूछे जाने पर चंपत राय ने कहा कि उन्हें नहीं पता रविशंकर के पास कौन सा समाधान है? वह जिनसे मिल रहे हैं, राय शुमारी कर रहे हैं, वह कौन लोग हैं? उनकी कानूनी स्थिति क्या है? 

पढ़ें- सेक्सुअलिटी के बयान पर श्री श्री रविशंकर पर भड़कीं सोनम कपूर, लोग बोले- 'पहले पूरी बात तो जान लो'

चंपत राय का कहना है कि राम मंदिर निर्माण के लिए इस देश की जनता 500 साल से आंदोलन कर रही है। इसलिए इसका समाधान उसकी इच्छा, शहीदों तथा साधु संतों द्वारा मान्य होना चाहिए। विहिप महासचिव का कहना है कि इसके बाद देश की सरकार है। वह भी सोचे। 
आगे पढ़ें

प्रधानमंत्री की सद्इच्छा से आगे बढ़ रहे हैं श्री श्री

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

Most Read

India News

जब धोनी का आधार डेटा सेफ नहीं तो सरकार बताए क्या कदम उठा रही है: SC

आधार की संवैधानिक वैधता को लेकर जारी बहस में याचिकाकर्ता ने कहा कि इसके डाटा का गलत इस्तेमाल हो सकता है।

19 जनवरी 2018

Related Videos

400 लीटर रंगों ने बदली मुंबई के इस स्लम एरिया की तस्वीर

मुंबई के घाटकोपर स्थित असल्फा स्लम की तस्वीर बदल गई है। इसे देखकर अंदाजा लगाना मुश्किल है कि ये स्लम है। यहां की गलियों और झुग्गी झोपड़ी को खूबसूरत रंगों से सजाया गया है।

18 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper