'IED जैसे खतरनाक विस्फोटकों का इस्तेमाल कर रहे नक्सली'

एजेंसी/ नई दिल्ली Updated Sun, 12 Feb 2017 07:19 PM IST
Naxals is using high IED to kill people 
नक्सली
नक्सली संगठन खूनखराबा करने के लिए ‘ज्यादा खतरनाक’ आईईडी विस्फोटकों और अन्य तकनीकी उपकरणों का इस्तेमाल कर रहे हैं और यही कारण है कि पिछले वर्ष अधिक संख्या में सुरक्षा बलों के जवान तथा आम नागरिक मारे गए।
 
एनएसजी के नेशनल बम डेटा सेंटर (एनबीडीसी) द्वारा तैयार की गई रिपोर्ट के अनुसार वर्ष 2015 के मुकाबले 2016 में आईईडी विस्फोट की घटनाओं में 26 फीसदी की वृद्धि हुई और हताहत लोगों की संख्या में भी तीन फीसदी की बढ़ोत्तरी हुई। 

देश में गत वर्ष विस्फोटों में 112 लोगों की मौत हुई थी, जिनमें से 73 मौतें नक्सल प्रभावित इलाकों में, 14 मौतें पूर्वोत्तर के उग्रवाद से ग्रस्त इलाकों में, पांच जम्मू-कश्मीर में और 20 मौतें देश के शेष हिस्सों में हुई। गत सप्ताह प्रकाशित हुई इस रिपोर्ट के अनुसार ज्यादातर मौतें उच्च तीव्रता के आईईडी विस्फोटों से हुईं। 
आगे पढ़ें

नक्सलियों के निशाने पर आम नागरिक और सुरक्षा बल

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

Most Read

India News

#AAP संकटः 20 के बाद केजरीवाल के इन 27 'हीरों' पर भी लटकी है तलवार

आम आदमी पार्टी के 20 विधायकों को अयोग्य करार दिया जा चुका है, जबकि 27 और पर अभी तलवार लटकी हुई है।

21 जनवरी 2018

Related Videos

आम आदमी पार्टी के इन 20 विधायक की सदस्यता रद्द, राष्ट्रपति ने दी मंजूरी

आम आदमी पार्टी के 20 विधायकों की सदस्यता रद्द करने के मामले में राष्ट्रपति ने लगाई मुहर। ऑफिस ऑफ प्रॉफिट मामले में गई 20 आप विधायकों की सदस्यता।

21 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper