पहली बार एक साथ ज्वाइंट ट्रेनिंग करेंगी भारत की तीनों सेनाएं

amarujala.com- presented by: विकास कुमार Updated Wed, 15 Nov 2017 09:56 AM IST
Joint training doctrine for armed forces released
ज्वाइंट ट्रेनिंग सिद्धांत पत्र - फोटो : ANI
इस साल के अंत तक देश की तीनों सेना युद्धाभ्यास करते हुए दिखाई दे सकती हैं। अगर ऐसा होता है तो रक्षा क्षेत्र में पहली बार ऐसा होगा जब तीनों सेनाएं एक साथ मिलकर ज्वाइंट ट्रेनिंग करेंगी। 
मंगलवार को 51 पन्नों का जॉइंट ट्रेनिंग का सिद्धांत पत्र जारी किया गया। इसमें तीनों सेना प्रमुखों की कमेटी के चेयरमैन, नेवी चीफ एडमिरल सुनील लांबा, एयर चीफ मार्शल बी एस धनोआ और जनरल बिपिन रावत तीनों पक्षों को शामिल किया गया।  

एक सैन्य अधिकारी ने कहा कि जिस दिन युद्ध होगा तो तीनों सेनाओं को मोर्चा संभालना पड़ेगा, इसलिए जरूरी है कि तीनों सेनाओं में आपसी तालमेल होना चाहिए। 

ये भी पढ़ेंः सेना प्रमुख बोले-भारत में जो भी आतंकी आएगा मारा जाएगा, चीन को भी दी कड़ी चेतावनी

बता दें कि इससे पहले अप्रैल में तीनों सेनाओं का संयुक्त सिद्धांत पत्र जारी किया गया था। जिसमें इस बात की जानकारी देते हुए बताया गया था कि इसका मकसद तीनों सेनाओं में तालमेल और साथ मिलकर काम करने की क्षमता को बढ़ाना है। 

रक्षा जानकार मान रहे हैं कि यह सिद्धांत पत्र आने वाले वक्त में तीनों सेनाओं के बीच तालमेल बैठाने में बेहद मददगार साबित होगा।  

 

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

Most Read

India News

मोदी सरकार की ताकत ही बनती जा रही है उसकी कमजोरी

इससे जुड़े सवाल पर विदेश मंत्रालय के अधिकारी प्रतिक्रिया देने से बचने लगे हैं।

25 फरवरी 2018

Related Videos

डेढ घंटे बर्फ में दबे रहने के बाद जीवित निकला ये शख्स

केलांग में आए एवलॉन्च में तीन लोग दब गए। घटना रोहतांग टनल के नॉर्थ पोर्टल में हुई। यहां बीआरओ ऑफिसर इस एललॉन्च के चपेट में आ गए।

24 फरवरी 2018

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen