Hindi News ›   India News ›   Amit shah reply to rahul gandhi's satement

देश के बजाय पाकिस्तान की निराशा के साथ खड़े दिखते हैं राहुल गांधीः अमित शाह

टीम डिजिटल/अमर उजाला, नई दिल्ली Updated Fri, 07 Oct 2016 01:06 PM IST
amit shah
amit shah - फोटो : ANI
विज्ञापन
ख़बर सुनें

राहुल गांधी के खून की दलाली वाले बयान के बाद भाजपा अध्यक्ष अमित शाह इसका जवाब देने खुद सामने आए। प्रेस कान्फ्रेंस करते हुए उन्होंने कहा "भारतीय जनता पार्टी के करोडों कार्यकर्ताओं की ओर से देश के मीडिया को आभार देना चाहता हूं। सर्जिकल स्ट्राइक के बाद जिस तरह से देश के मीडिया ने एकजुट होकर भारतीय सेना के साहस और कार्यकुशलता को सामने रखा उससे सेना का मनोबल बढ़ा है। हम मीडिया के आभारी हैं।" 

विज्ञापन


शाह बोले, "देश की कूटनीतिक सफलताओं को जिस तरह से मीडिया ने प्रोत्साहित किया है उससे सरकार का भी मनोबल बढ़ा है। जब लोगों ने सर्जिकल स्ट्राइक जैसे बड़े मामले पर सवाल उठाए तो मीडिया ने इसकी सच्चाई को सामने रखकर देश का मान बढ़ाने का काम किया है।"


"कुछ पार्टियों और उनके नेताओं ने सर्जिकल स्ट्राइक पर सवाल खड़ा करके सेना और देश का अपमान किया है।" अमित शाह ने सफाई दी कि "सर्जिकल स्ट्राइक पर सरकार ने पूरी तरह से खुद को अलग रखते हुए इससे दूर रहने का प्रयास किया और इसकी प्रेस कान्फ्रेंस भी सेना के डीजीएमओ ने की। लेकिन विरोधियों ने इसे राजनीति का मुद्दा बना दिया। हम इसकी निंदा करते हैं।"

शाह ने राहुल पर निशाना साधते हुए कहा कि "राहुल गांधी देश के बजाय पाकिस्तान की निराशा के साथ खड़े दिखते हैं। समझ में नहीं आता कि वह देश की इस उपलब्धि पर खुशी महसूस क्यों नहीं कर रहे हैं। "

राहुल और केजरीवाल पर साधा निशाना

अमित शाह का तीखा हमला-

हमें मौत का सौदागर कहा गया, जहर की खेती करने वाला कहा गया। हर बार इन बयानों के बाद भाजपा बड़े बहुमत से सत्ता में आई। 

राहुल का बयान देश को तोड़ने वाला रहा है। राहुल के इस बयान से सेना का मनोबल टूटता है। 

जवानों के खून का कोई मोल नहीं है। राहुल ने सेना के जवानों का अपमान किया है। 

पूरा देश उत्साह के साथ जवानों के साथ है, राहुल क्यों इसमें अलग-थलग ‌दिखते हैं। 

जो लोग सबूत मांगते हैं उन्हें सबूत मांगने की जरुरत नहीं है।

पाकिस्तान की चिंता करना हमारा काम नहीं है राहुल गांधी से ये सवाल कर लेना

अगर पाकिस्तान को सर्जिकल स्ट्राइक की चिंता नहीं है तो वहां क्यों संसद का विशेष सत्र बुलाया गया

जो लोग इसके सबूत मांगते हैं वो जाएं और देखें पाकिस्तान में क्या हो रहा है
 

बोले शाह- पूरा देश सैनिकों के साथ

पूरा देश सरकार और जनता भारतीय सैनिकों के साथ हैं। हमें सेना की गोलियों में विश्वास हैं नेताओं के बयानों में नहीं

हम इस मुद्दे पर कोई पॉलीटिकल माइलेज नहीं चाहते थे लेकिन कुछ नेताओं और पार्टियों ने इसे मुद्दा बना दिया

राहुल गांधी से पूछा जाना चाहिए कि दलाली शब्द का इस्तेमाल भारतीय सेना के लिए किया है या किसके लिए। 

केजरीवाल ने जब सर्जिकल स्ट्राइक पर बयान दिया तो वो पाकिस्तान में ट्रेंड करने लगे, इसके बाद राहुल ने भी उनके समर्थन में बयान दे दिया

आखिर आपको किस पर शक है? क्या सैनिकों की मंशा और साहस पर आपको भरोसा नहीं है?
 
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News apps, iOS Hindi News apps और Amarujala Hindi News apps अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00