विज्ञापन
विज्ञापन

सेना के जवान अब ओपेन बोर्ड से लेंगे शिक्षा

ब्यूरो / अमर उजाला, देहरादून Updated Thu, 23 Jun 2016 12:33 PM IST
किताबें
‌‌किताबें
ख़बर सुनें
सेना में कार्यरत ऐसे जवान जो कि अपनी 10वीं या 12वीं की पढ़ाई पूरी नहीं कर पाए हैं, उनके लिए अब राष्ट्रीय मुक्त विद्यालयी शिक्षा संस्थान (ओपेन बोर्ड) बड़ा सहारा बनेगा। इसके लिए एनआईओएस और आर्मी एजुकेशन कोर के बीच समझौता हुआ है।
विज्ञापन
सेना में हजारों ऐसे जवान हैं जिन्होंने कम उम्र में ही सेना ज्वाइन कर ली, लेकिन 10वीं या 12वीं तक शिक्षित न होने की वजह से उन्हें पदोन्नति के अवसर उपलब्ध नहीं हो पाते हैं। साथ ही सेना से अवकाश ग्रहण करने के उपरांत उन्हें नागरिक जीवन में रोजगार प्राप्त करने में कठिनाई का भी सामना करना पड़ता है।

अब एनआईओएस के माध्यम से यह सुविधा प्राप्त होने के उपरांत वे सेना में कार्य करते हुए अपनी शिक्षा ग्रहण कर सकते हैं। ओपेन बोर्ड ऐसे सैनिक शिक्षार्थियों को अध्ययन सामाग्री के साथ साथ ऑडियो व वीडियो भी उपलब्ध कराएगा। सैनिक छात्रों के लिए एनआईओएस ने विशेष अध्ययन सामग्री तैयार की है।

इस प्रोजेक्ट के संचालन के लिए एनआईओएस के अध्यक्ष प्रो. सीबी शर्मा व आर्मी एजुकेशन कोर के मेजर जनरल देवाशीष रॉय के बीच एमओयू साइन हुआ है। यह प्रोजेक्ट ‘एनआईओएस एजुकेशन प्रोजेक्ट फॉर इंडियन आर्मी’ के नाम से संचालित होगा।

प्रोजेक्ट का संचालन सेना के एचआरडीसी के तहत हेड क्वार्टर, कॉर्प्स, डिविजन, एरिया, ब्रिगेड, सब एरिया स्तर पर चलाया जाएगा। करीब चार लाख जवानों के लाभान्वित होने की आशा है।

Published By : Nirmala Suyal
विज्ञापन

Recommended

सब कुशल मंगल के ट्रेलर लॉन्च इवेंट में गूंजे दर्शकों के ठहाके
सब कुशल मंगल

सब कुशल मंगल के ट्रेलर लॉन्च इवेंट में गूंजे दर्शकों के ठहाके

ढाई साल बाद शनि बदलेंगे अपनी राशि , कुदृष्टि से बचने के लिए शनि शिंगणापुर मंदिर में कराएं तेल अभिषेक : 14-दिसंबर-2019
Astrology Services

ढाई साल बाद शनि बदलेंगे अपनी राशि , कुदृष्टि से बचने के लिए शनि शिंगणापुर मंदिर में कराएं तेल अभिषेक : 14-दिसंबर-2019

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Dehradun

उत्तराखंड: श्रीदेव सुमन विश्वविद्यालय भी खत्म कर सकता है सेमेस्टर सिस्टम

कुमाऊं विश्वविद्यालय ने कैंपस और कुछ पीजी कॉलेजों को छोड़कर सभी जगह सेमेस्टर सिस्टम इसी साल से खत्म कर दिया है। अब इस मुद्दे पर श्रीदेव सुमन विश्वविद्यालय को फैसला लेना है।

9 दिसंबर 2019

विज्ञापन

Delhi Fire: फायरमैन राजेश शुक्ला बोले, ‘सही सूचना मिलती तो और भी जानें बच जाती’

दिल्ली आग हादसे के हीरो राजेश शुक्ला ने कहा की अगर हमें सही सूचना मिलती तो और भी जानें बचा सकते थे।

8 दिसंबर 2019

Related

आज का मुद्दा
View more polls
Niine

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election