भारत-पाक के क्रिकेट रिश्ते बने रहने चाहिएः द्रविड़

जयपुर/एजेंसी Updated Sun, 27 Jan 2013 10:35 AM IST
india and pakistan should play cricket says rahul dravid
विज्ञापन
ख़बर सुनें
टीम इंडिया के पूर्व कप्तान राहुल द्रविड़ ने भारत और पाकिस्तान के बीच क्रिकेट रिश्ते बनाए रखने की बात कही है। हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि मौजूदा हालात में यह संभव नहीं है। द्रविड़ ने कहा कि हालात के आगे सब मजबूर हैं और यही कारण है कि वह द्विपक्षीय खेल रिश्तों में आई रुकावट को लेकर ज्यादा कुछ नहीं कहना चाहते।
विज्ञापन


जयपुर में चल रहे साहित्य सम्मेलन में द्रविड़ ने कहा, 'मैं भारत और पाकिस्तान के बीच क्रिकेट रिश्ते के पक्ष में हूं। मेरा दिल कहता है कि दोनों टीमों के बीच नियमित अंतराल पर सीरीज होने चाहिए लेकिन जो हालात हैं, उन्हें देखते हुए यह संभव नहीं और यह मुझे मंजूर है।'


द्रविड़ ने कहा कि ऑस्ट्रेलिया के साथ होने वाली आगामी टेस्ट सीरीज काफी अहम है। इसमें चयनकर्ताओं को भविष्य के खिलाड़ियों को चुनना होगा। पूर्व दिग्गज क्रिकेटरन ने कहा, 'हर सीरीज अहम होती है। ऑस्ट्रेलिया और भारत की टीमों में कई बड़े खिलाड़ी हैं, ऐसे में मैं यही कहना चाहूंगा कि दोनों टीमों के बीच होने वाली अहम सीरीज के माध्यम से इन दो देशों के चयनकर्ताओं और बोर्ड को भविष्य के खिलाड़ी पहचानने का मौका मिलेगा।'

यह पूछे जाने पर कि संन्यास के बाद वह कब तक घरेलू क्रिकेट और इंडियन प्रीमियर लीग में खेलना चाहेंगे। आईपीएल की फ्रेंचाइजी टीम राजस्थान रॉयल्स के कप्तान द्रविड़ ने कहा, 'मैं एक-एक कदम बढ़ा रहा हूं। एक और साल मैं सक्रिय रहना चाहता हूं। फिलहाल मैं क्रिकेट और परिवार के बीच तालमेल बनाकर चल रहा हूं। मैं आईपीएल के लिए तैयारी जारी रखते हुए परिवार का ध्यान रख रहा हूं।'

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय Hindi News वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें क्रिकेट समाचार से जुड़ी ब्रेकिंग अपडेट। क्रिकेट जगत की अन्य खबरें जैसे क्रिकेट मैच लाइव स्कोरकार्ड, टीम और प्लेयर्स की आईसीसी रैंकिंग आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00