विज्ञापन
विज्ञापन

इसलिए दिया उर्जित पटेल ने इस्तीफा? सरकार के ये फैसले थे बड़ा कारण?

Rajesh Badalराजेश बादल Updated Mon, 10 Dec 2018 07:36 PM IST
रिज़र्व बैंक के गवर्नर उर्जित पटेल का इस्तीफ़ा चौंकाता है। लेकिन इसके कारण किसी रहस्य के परदे में नहीं हैं
रिज़र्व बैंक के गवर्नर उर्जित पटेल का इस्तीफ़ा चौंकाता है। लेकिन इसके कारण किसी रहस्य के परदे में नहीं हैं - फोटो : File Photo
ख़बर सुनें
रिज़र्व बैंक के गवर्नर उर्जित पटेल का इस्तीफ़ा चौंकाता है। लेकिन इसके कारण किसी रहस्य के परदे में नहीं हैं। निजी कारणों का हवाला वे दे सकते हैं मगर यह तो किसी भी जानकार के लिए पहेली है कि उन्होंने अपने इस्तीफे के लिए ठीक वही समय क्यों चुना, जब मंगलवार से संसद का शीतकालीन सत्र शुरू हो रहा है और इसी दिन पांच विधानसभाओं के चुनाव परिणाम आ रहे हैं।
विज्ञापन
ग़ौरतलब है कि एक पखवाड़े पहले ही  उर्जित पटेल संसदीय समिति के सामने संसद में उपस्थित हुए थे और क़रीब दो दर्ज़न महत्वपूर्ण बिंदुओं पर अपना लिखित उत्तर सौंपा था। 31 सदस्यों वाली इस समिति के अध्यक्ष वीरप्पा मोइली हैं और पूर्व प्रधानमंत्री डॉक्टर मनमोहन सिंह भी इस समिति के सदस्य हैं। मनमोहन सिंह पहले खुद भी रिज़र्व बैंक के गवर्नर रहे हैं। 

मीटिंग में क्या कहा था उर्जित पटेल ने 
आमतौर पर संसद की किसी भी समिति की इस तरह की कार्रवाई का कोई अधिकृत ब्यौरा नहीं दिया जाता। यह पूरी तरह गोपनीय होती है, लेकिन जानकारों का मानना है कि उन्होंने नोटबंदी और उसके बाद देश के आर्थिक हालात के बारे में अपनी राय रखी थी। इनमें से अनेक सवालों के उत्तर में वे ख़ामोश भी रहे थे। मंगलवार से प्रारंभ हो रहे संक्षिप्त किन्तु बेहद महत्वपूर्ण संसद सत्र में यक़ीनन देश की कारोबारी सेहत पर चर्चा होगी।

इससे पहले रिज़र्व बैंक के गवर्नर के रूप में आर्थिक नीतियों पर अपनी बेबाक राय रख चुके हैं।  उस समय सरकार को उनकी सलाह नागवार गुज़री थी। यहां तक कि रिज़र्व बैंक की स्वायत्तता और उसके संवैधानिक अधिकारों पर भी देश के औद्योगिक जगत में बहस छिड़ गई थी।

सरकार ने भी उर्जित पटेल को  कार्यकाल पूरा करने पर सहमति जताई थी। हालांकि नवंबर में ही बोर्ड ने 9 घंटे चली अपनी मैराथन बैठक में सरकार की कुछ नीतियों पर सहयोग की मंशा ज़ाहिर की थी। बैंक ने कहा था कि 25 करोड़ से कम के क़र्ज़ पर उदार रवैया अपनाने पर विचार करेगा। यद्यपि बैंक के 3.6 लाख करोड़ के फंड को विकास कार्यों के लिए कम करने पर बैंक का रुख सरकार को नापसंद आने वाला था।   
 
 
विज्ञापन
आगे पढ़ें

विज्ञापन

Recommended

आखिर भारतीयों को क्यो पसंद है रमी खेलना?
Junglee Rummy

आखिर भारतीयों को क्यो पसंद है रमी खेलना?

महालक्ष्मी मंदिर, मुंबई में कराएं दिवाली लक्ष्मी पूजा और घर बैठें पाएं प्रसाद : 27-अक्टूबर-2019
Astrology Services

महालक्ष्मी मंदिर, मुंबई में कराएं दिवाली लक्ष्मी पूजा और घर बैठें पाएं प्रसाद : 27-अक्टूबर-2019

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Opinion

अर्थव्यवस्था का एक आयाम यह भी

देखभाल अर्थव्यवस्था ऐसी प्रणाली है, जिसमें देखभाल के शारीरिक, भावनात्मक और मनोवैज्ञानिक पहलुओं को पूरा करने की गतिविधियां शामिल होती हैं।

22 अक्टूबर 2019

विज्ञापन

कमलेश तिवारी हत्याकांड में ATS को मिली कामयाबी, दोनों मुख्य आरोपी गिरफ्तार

कमलेश तिवारी हत्याकांड में फरार दोनों आरोपियों को गुजरात एटीएस ने गिरफ्तार कर लिया है. दोनों आरोपियों के नाम अश्फाक और मुईनुद्दीन है.

22 अक्टूबर 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree