बीएचयू हंगामे की 'आंच' पहुंची यहां भी, पुलिस ने बरसाईं लाठियां

अमर उजाला टीम डिजिटल/जयपुर Updated Mon, 25 Sep 2017 04:46 PM IST
bhu file photo
bhu file photo - फोटो : अमर उजाला
ख़बर सुनें
उत्तर प्रदेश के बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय से शुरू हुए बवाल की आंच अब राजस्थान तक आ पहुंची है। यहां भी प्रदेश की सबसे बड़ी यूनिवर्सिटी में छात्रों ने हंगामा किया। हालत संभालने के लिए पुलिस को लाठी बरसानी पड़ी।
बीएचयू में दो दिन से चल रहा हंगामा अब राजस्थान यूनिवर्सिटी तक आ पहुंचा है।  राजस्थान यूनिवर्सिटी के मुख्य द्वार पर एनएसयूआई के कार्यकर्ताओं ने विरोध प्रदर्शन किया। छात्रों ने केंद्र सरकार के खिलाफ नारे लगाए और तानाशाही चलाने का आरोप लगाया। छात्रों का प्रदर्शन उग्र होने लगा तो पुलिस ने लाठी चार्ज कर छात्रों को खदेड़ा।

यूनिवर्सिटी गेट से नारेबाजी करते हुए छात्र-छात्राएं जेएलएन मार्ग तक आ गए। छात्रों ने जेएलएन मार्ग रोकने को कोशिश की तो पुलिस ने उन्हें खदेड़ा। छात्र नहीं माने तो पुलिस ने पहले बल प्रयोग किया और फिर गाड़ियों में भर कर उन्हें वहां से ले गए। इसके बाद जेएलएन मार्ग पर यातायात सुचारू हो सका।

गौरतलब है कि बनारस हिन्दू यूनिवर्सिटी में शनिवार रात प्रदर्शन कर रही छात्राओं पर पुलिस ने लाठीचार्ज किया। जिसमें कई छात्राएं चोटिल भी हो गई। इसके बाद से हंगामा बढ़ता गया। बीएचयू में पुलिस का भारी जाप्ता लगा दिया गया। इसके बाद से प्रदर्शन के दौर अलग अलग जगह पर जारी है।

RELATED

Spotlight

Most Read

Shimla

श्वेता और अमर की जोड़ी ने डांस में चमकाया नाम, हासिल किया दूसरा स्थान

मंडी की श्वेता और कुल्लू के अमर की जोड़ी ने नॉर्थ इंडिया डांस प्रतियोगिता-2018 में दूसरा स्थान हासिल किया है।

16 जुलाई 2018

Related Videos

फेसबुक LIVE के दौरान मौत, 199 किमी/घंटे की रफ्तार से चला रहे थे बाइक

फेसबुक लाइव का नशा युवकों पर इस कदर चढ़ गया है कि वो चंद कमेंट्स और लाइक्स के लिए कुछ भी करने को तैयार हैं। ताजा मामला छत्तीसगढ़ का है जहां इसी चक्कर में दो युवकों की मौत हो गई। देखिए क्या है पूरा मामला।

17 जुलाई 2018

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen